Breaking
हालत गंभीर, बिरयानी खाने गया था, कोतवाली प्रभारी बोले- दोनों शराब के नशे में थे दिल्ली हाईकोर्ट ने रेस्तरां में आम ग्राहकों से सेवा शुल्क लाने पर उठाए सवाल झलाई के जंगल में जानवर चराने गया था चरवाहा, हमले से शरीर में कई जगह लगी चोट परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा; शहीद के नाम पर होगा स्कूल का नामकरण लखीमपुर में देश भर से पहुंच रहे किसान, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की करेंगे मांग परक्यूपाइन का लिया जायजा, कहा- गंगा के जलस्तर पर बराबर नजर बनाए रखें अधिकारी शिंदे-फडणवीस जोड़ी देगी विधान परिषद चुनाव में महा विकास अघाड़ी को झटका  फुटबॉल मैच के दौरान दोस्त का सिर काट दिया, फिर हाथ में लेकर थाने पहुंच गया  भारत की समृद्धि में महत्वपूर्ण साझेदार होगा अमेरिका : राजदूत संधू पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी [Post Office Franchise Business Idea] बिजनेस: मात्र 10000 रुपए लगाकर शुरू करें...

सांसदों के निलंबन रद्द करने को लेकर विपक्ष का मार्च, मल्लिकार्जुन खड़गे ने की बैठक; दबाव बनाने की रणनीति पर चर्चा

Whats App

नई दिल्ली। संसद के शीतकालीन सत्र में निलंबित हुए 12 सांसदों का मुद्दा लगातार बढ़ रहा है। विपक्षी दलों ने आज सांसदों के न‍िलंबन के विरोध में मार्च निकालने की घोषणा की है। दोनों सदनों के विपक्षी सदस्य संसद भवन परिसर से विजय चौक तक मार्च करेंगे। इससे पहले आज संसद के दोनों सदनों में विपक्षी दलों के फ्लोर नेताओं ने राज्यसभा में एलओपी के कार्यालय में बैठक की। इस दौरान मल्लिकार्जुन खड़गे ने 12 सांसदों के निलंबन को रद्द करने की मांग को लेकर दबाव बनाने के लिए रणनीति पर चर्चा की।

Whats App

बता दें कि शीतकालीन सत्र के पहले दिन 12 विपक्षी सांसदों को निलंबित कर दिया गया था। मानसून सत्र में इन सांसदों ने अशोभनीय आचरण किया था। सदन के अंदर तोड़फोड़ आसन पर पेपर फेंकने टेबल पर चढ़कर डांस करने और मार्शल के साथ अभद्रता के इन पर आरोप थे। पूरी छानबीन के बाद शीतकालीन सत्र के पहले दिन यह कार्रवाई हुई है। इस कार्रवाई को लेकर विपक्ष ने आक्रामक तेवर अख्तियार कर लिए हैं। कांग्रेस ने कहा है कि हम इस कदम की निंदा करते हैं

जिन 12 सांसदों को पूरे शीतकालीन सत्र के लिए सदन से निलंबित किया गया है, उनमें माकपा के इलामारम करीम, कांग्रेस की फूलो देवी नेताम, छाया वर्मा, रिपुन बोरा, राजमणि पटेल, सैयद नासिर हुसैन, अखिलेश प्रसाद सिंह, तृणमूल कांग्रेस की डोला सेन और शांता छेत्री, शिव सेना की प्रियंका चतुर्वेदी और अनिल देसाई तथा भाकपा के विनय विस्वम शामिल हैं।

सांसदों को शीतकालीन सत्र से सस्पेंड करने पर कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि यह लोकतंत्र विरोधी कदम है और सरकार सांसदों में डर पैदा करने के लिए ये कदम उठाई है। डराना-धमकाना उनकी अदत बन गई है। सरकार ने 12 सांसदों पर एक्शन लेने के लिए जो रेजोल्यूशन मूव किया है ये पूरी तरह गलत है। यह लोकतंत्र का गला घोटने की कोशिश है। हम इसकी निंदा करते हैं और इस पर सभी विपक्षी पार्टी सहमत है।

हालत गंभीर, बिरयानी खाने गया था, कोतवाली प्रभारी बोले- दोनों शराब के नशे में थे     |     दिल्ली हाईकोर्ट ने रेस्तरां में आम ग्राहकों से सेवा शुल्क लाने पर उठाए सवाल     |     झलाई के जंगल में जानवर चराने गया था चरवाहा, हमले से शरीर में कई जगह लगी चोट     |     परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा; शहीद के नाम पर होगा स्कूल का नामकरण     |     लखीमपुर में देश भर से पहुंच रहे किसान, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की करेंगे मांग     |     परक्यूपाइन का लिया जायजा, कहा- गंगा के जलस्तर पर बराबर नजर बनाए रखें अधिकारी     |     शिंदे-फडणवीस जोड़ी देगी विधान परिषद चुनाव में महा विकास अघाड़ी को झटका     |      फुटबॉल मैच के दौरान दोस्त का सिर काट दिया, फिर हाथ में लेकर थाने पहुंच गया      |     भारत की समृद्धि में महत्वपूर्ण साझेदार होगा अमेरिका : राजदूत संधू     |     पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी [Post Office Franchise Business Idea] बिजनेस: मात्र 10000 रुपए लगाकर शुरू करें यह बिज़नस, होगी लाखों की कमाई     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374