New Year
Breaking
जिले में 25 जनवरी को मनाया जाएगा 13वां ’राष्ट्रीय मतदाता दिवस’-जिलाधिकारी  इलेक्शन मोड में सरकार अन्नपूर्णा माता मंदिर में सुबह होगी मूर्तियों की स्थापना, शाम को दर्शन कर सकेंगे भक्त गेहूं में रेत-मिट्टी के मिलावट मामले में छह के विरुद्ध मामला दर्ज, वायरल हुआ था वीडियो रॉकेट दागने के जवाब में इजराइल ने गाजा पर हवाई हमला किया तेन्दूपत्ता संग्राहकों के बच्चों का कुपोषण दूर करने के लिए मिलेगा शहद-च्यवनप्राश इसरो के अंतरिक्ष यात्रियों को ट्रेनिंग देगा नासा मुंबई के 27 प्रतिशत नागरिक मधुमेह से पीड़ित चीन में घना कोहरा बना आफत, येलो अलर्ट जारी रबर कंपनी में लगी आग बुझाते समय फटा फायर एक्सटिंग्विशर सिलेंडर, 3 घायल

नीतीश ने मोतियाबिंद ऑपरेशन के दौरान मरीजों की आंखों की रौशनी चले जाने को बताया दुखद

Whats App

पटनाः बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर शहर में आंख के एक अस्पताल जहां एक निःशुल्क शिविर में 60 से अधिक लोगों की मोतियाबिंद सर्जरी के कारण लगभग आधे रोगियों को हुई दृष्टि हानि को दुखद बताया। साथ ही कहा कि दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

पटना में आयोजित स्वास्थ्य विभाग के एक कार्यक्रम के दौरान 1919 करोड़ 95 लाख रुपए की लागत से 772 विभिन्न योजनाओं का रिमोट के माध्यम से शिलान्यास, कार्यारम्भ, उद्घाटन एवं लोकार्पण करने के बाद नीतीश ने कहा कि मुजफ्फरपुर में एक निजी अस्पताल में हाल ही में आंखों के इलाज के दौरान मरीजों के आंखों की रौशनी चली गई जो बेहद दुखद है। निजी अस्पतालों को ठीक से काम करना होगा और हम लोग इस घटना की जांच करवा रहे हैं, जो भी दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन लोगों की आंखें चली गईं है, राज्य सरकार की तरफ से उन्हें सहायता दी जाएगी।

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर नेत्र अस्पताल में पिछले 22 नवंबर को 65 लोगों का ऑपरेशन किया गया था, जिसमें लगभग आधे रोगियों के आंखों की रौशनी चली गयी थी। वर्ष 2005 में सत्ता में आने के बाद से अपनी सरकार द्वारा स्वास्थ्य क्षेत्र में किए गए कार्यों का उल्लेख करते हुए नीतीश ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जो 6 बिस्तरों का था, उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में परिवर्तित करते हुए उसमें बिस्तरों की संख्या बढ़ाकर 30 करने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि बिहार में पहले 6 सरकारी मेडिकल कॉलेज थे, जबकि 2 निजी मेडिकल कॉलेज थे। अब राज्य में 11 सरकारी मेडिकल कॉलेज और 6 निजी मेडिकल कॉलेज हैं। नीतीश ने कहा कि हम लोगों ने इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान केंद्र में भी काफी काम करवाया। अब इसे 2500 बिस्तरों वाला अस्पताल बनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से मृत्यु होने पर उनके परिजनों को 4 लाख रुपए की सहायता दी जा रही है।

Whats App

नीतीश ने कहा कि कोरोना जांच प्रतिदिन लगभग 2 लाख किए जा रहे हैं और देश में 10 लाख की आबादी पर जितनी औसत जांच की जा रही है, उससे बिहार में की जा रही जांच अधिक है। उन्होंने कहा कि अब तक कोरोना निरोधक टीकों की 9 करोड़ 1 लाख 56 हजार 334 खुराक दिए जा चुके हैं।

जिले में 25 जनवरी को मनाया जाएगा 13वां ’राष्ट्रीय मतदाता दिवस’-जिलाधिकारी     |      इलेक्शन मोड में सरकार     |     अन्नपूर्णा माता मंदिर में सुबह होगी मूर्तियों की स्थापना, शाम को दर्शन कर सकेंगे भक्त     |     गेहूं में रेत-मिट्टी के मिलावट मामले में छह के विरुद्ध मामला दर्ज, वायरल हुआ था वीडियो     |     रॉकेट दागने के जवाब में इजराइल ने गाजा पर हवाई हमला किया     |     तेन्दूपत्ता संग्राहकों के बच्चों का कुपोषण दूर करने के लिए मिलेगा शहद-च्यवनप्राश     |     इसरो के अंतरिक्ष यात्रियों को ट्रेनिंग देगा नासा     |     मुंबई के 27 प्रतिशत नागरिक मधुमेह से पीड़ित     |     चीन में घना कोहरा बना आफत, येलो अलर्ट जारी     |     रबर कंपनी में लगी आग बुझाते समय फटा फायर एक्सटिंग्विशर सिलेंडर, 3 घायल     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374