Breaking
महाकाल लोक के लोकार्पण के बाद सड़क मार्ग से इंदौर आएंगे PM मोदी छत्तीसगढ़:  परिवार के 3 लोगों की की गला काटकर हत्या बस्तर दशहरा की रस्म में होंगे शामिल, संभागीय सी-मार्ट का करेंगे शुभारंभ, झाड़ा सिरहा की प्रतिमा का कर... रावनवाडा में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुआ हादसा, 5 साल की मासूम की मौत, 8 साल की बालिका घायल पोहा बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें या पोहा मिल कैसे लगाये |Poha Making Business In Hindi संसदीय क्षेत्र की अनदेखी से खफा लोग, फोटो के ऊपर लिखा 'गुमशुदा की तलाश' परिसर में कर्मचारियों से की बदतमीजी, सिविल लाइन थाना पुलिस के किया हवाले बाइक सवार युवक की मौत, घर लौटते समय हुआ हादसा हेल्थ के लिए वरदान है भीगे हुए अखरोट दिल्ली की नाबालिग से ग्वालियर में दुष्कर्म

सरकार ने 5G को लेकर कसी कमर, जानिए लॉन्चिंग से रोलआउट तक पूरा प्लान

Whats App

नई दिल्ली। केंद्र सरकार 5G कनेक्टिविटी को लेकर देरी नहीं चाहती है। इसके लिए सरकार ने फास्ट ट्रैक मोड में 5G कनेक्टिविटी को रोलआउट करने का प्लान बनाया है। सरकार 5G को देश में समय से  रोलआउट करना चाहती है। इसी के मद्देनजर एक टाइम फ्रेम बनया है। सरकार ने जुलाई के पहले दो हफ्तों का समय दिया है, जिसमें अपकमिंग 5G नीलामी प्रक्रिया को पूरा किया जाना है। इस लेकर स्टेकहोल्डर और सरकारी अधिकारियों के बीच चर्चा जारी है।

कब तक मिलेगी 5G कनेक्टिविटी 

ऐसी संभावना है कि टेलिकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) की ओर से बेस प्राइस को लेकर प्रस्ताव मार्च तक दे दिया जाएगा, जिसके बाद कैबिनेट से इसकी मंजूरी लेनी होगी। इसके बाद भारत में 5G कनेक्टिविटी को रोलआउट किया जा सकेगा। साथ ही बड़े पैमाने पर कॉमर्शियल 5G रोलआउट साल 2023 की दूसरी तिमाही (अप्रैल-जून) में ही पूरा हो सकेगा।

Whats App

जल्द बेस प्राइस तय करने की मांग 

दूरसंचार विभाग (DoT) की तरफ से पहले तक साल 2022 की पहली तिमाही तक नीलामी को पूरा करने का लक्ष्य तय किया गया था। लेकिन अब इसमें बदलाव कर दिया गया है। संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि नीलामी को अप्रैल-मई तक पूरा कर लिया जाएगा। DoT की तरफ से 5G मिलीमीटर बैंड्स के लिए बेस प्राइस तय करने की मांग की थी। जिससे 3500 बैंड्स को फिक्स किया जा सके। टेलिकॉम कंपनियों की तरफ से ट्राई की ओर से प्रस्तावित हाई बेस प्राइस को लेकर चिंता जाहिर की थी।

5G के मामले में काफी पीछे है भारत 

टेलिकॉम कंपनियों की मानें, तो भारत में 5G रोलआउट साल 2023 में ही संभव है। भारत बाकी देशों के मुकाबले 5G रोलआउट करने के मामले में काफी पीछे है। मौजूदा वक्त में करीब 67 देशों में 5G सर्विस उपलब्ध है। रिलायंस जियो अकेली ऐसी कंपनी हैं, जो स्टैंडअलोन 5G नेटवर्क उलब्ध कराने में सक्षम है। जिसमें कम लेटेंसी और हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी मिलेगी।

महाकाल लोक के लोकार्पण के बाद सड़क मार्ग से इंदौर आएंगे PM मोदी     |     छत्तीसगढ़:  परिवार के 3 लोगों की की गला काटकर हत्या     |     बस्तर दशहरा की रस्म में होंगे शामिल, संभागीय सी-मार्ट का करेंगे शुभारंभ, झाड़ा सिरहा की प्रतिमा का करेंगे अनावरण     |     रावनवाडा में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुआ हादसा, 5 साल की मासूम की मौत, 8 साल की बालिका घायल     |     पोहा बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें या पोहा मिल कैसे लगाये |Poha Making Business In Hindi     |     संसदीय क्षेत्र की अनदेखी से खफा लोग, फोटो के ऊपर लिखा ‘गुमशुदा की तलाश’     |     परिसर में कर्मचारियों से की बदतमीजी, सिविल लाइन थाना पुलिस के किया हवाले     |     बाइक सवार युवक की मौत, घर लौटते समय हुआ हादसा     |     हेल्थ के लिए वरदान है भीगे हुए अखरोट     |     दिल्ली की नाबालिग से ग्वालियर में दुष्कर्म     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374