Breaking
आंखों में मिर्ची डालकर ले गए डेढ़ लाख रुपए, पुलिस तलाश में जुटी मुख्यमंत्री चौहान ने पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर नमन किया 15 साल की किशोरी रेप, मंडीदीप, रायसेन में छिपकर करता रहा मजदूरी 21वीं राज्य स्तरीय बैडमिंटन स्पर्धा के लिए चुने गए जिले के खिलाड़ी इन घरेलू उपायों से मोटापा करें कम महेंद्रगढ़ में सरकारी जमीन पर कब्जा करके बनाया घर जमींदोज, पुलिस फोर्स रही मौजूद समाज के हर वर्ग के लिए काम कर रही सरकार- पंकज चौधरी सर्व आदिवासी समाज के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री से की सौजन्य मुलाकात प्रसव के लिए रुपये लेने का आरोप एंटी भू-माफिया के तहत तीन के विरुद्ध गैंगस्टर की कार्रवाई

अवैध बालू उत्खननः मोटरयान निरीक्षक और अंचल अधिकारी के ठिकानों पर EOU ने की छापेमारी

Whats App

पटनाः बिहार आर्थिक अपराध इकाई (ईओयू) की अलग-अलग टीम ने पटना के तत्कालीन मोटरयान निरीक्षक मृत्युंजय कुमार सिंह एवं विक्रम के तत्कालीन अंचल अधिकारी वकील प्रसाद सिंह के विभिन्न ठिकानों पर मंगलवार को छापेमारी की।

ईओयू के अपर पुलिस महानिदेशक नय्यर हसनैन खान ने बताया कि मृत्युंजय कुमार सिंह सितंबर 2012 में मोटरयान निरीक्षक के पद पर नियुक्त हुए थे। उन्होंने बताया कि लोक सेवक के रूप में अपने पद का दुरूपयोग कर मृत्युंजय द्वारा आपराधिक षडयंत्र रच कर भ्रष्ट तरीके से की गई काली कमाई को अपने, पज्नी तथा सालों के विभिन्‍न बैंक खातों में रखने के साथ शेल कंपनी बना कर उनके नाम से परिम्पत्ति बनाते हुए धनशोधन कर अपने काले धन को सफेद बनाने का प्रयास किया गया है।

खान ने बताया कि मृत्युंजय पटना, गया आदि जिलों में मोटरयान निरीक्षक के रूप में पदस्थापित रहे हैं तथा अपने भ्रष्ट आचरण के कारण काफी चर्चित रहे एवं इन पर अनेकानेक आरोप लगते रहे हैं। उन्होंने बताया कि मृत्युंजय द्वारा अर्जित कुल चल-अचल परिसंपत्तियां करीब 3,11,88,000 रुपए मूल्य की हैं जो इनके ज्ञात आय के स्रोत से 531 प्रतिशत अधिक है। खान ने बताया कि विक्रम के तत्कालीन अंचल अधिकारी वकील प्रसाद सिंह की नियुक्ति अगस्त 1999 में योजना एवं विकास विभाग में हुई थी। वह पहले नवीनगर, उदवंतनगर एवं बथनाहा में अंचल अधिकारी के पद पर पदस्थापित रहे हैं।

Whats App

अपर पुलिस महानिदेशक ने बताया कि सरकारी सेवा में नियुक्ति से पहले सिंह के पास कोई चल-अचल सम्पत्ति नहीं थी। खान ने बताया कि सेवा के दौरान अपने पद का दुरूपयोग करते हुए सिंह ने अपने और पत्नी के नाम से काफी चल-अचल परिसम्पत्तियां अर्जित की हैं जो उनके वैध ज्ञात आय के स्त्रोत से काफी अधिक है। उन्होंने बताया कि सिंह की कुल चल-अचल परिसम्पत्ति करीब 77.10 लाख रूपये मूल्य की पायी गयी है जो कि इनके ज्ञात आय के स्रोत से 84.2 प्रतिशत अधिक है ।

आंखों में मिर्ची डालकर ले गए डेढ़ लाख रुपए, पुलिस तलाश में जुटी     |     मुख्यमंत्री चौहान ने पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर नमन किया     |     15 साल की किशोरी रेप, मंडीदीप, रायसेन में छिपकर करता रहा मजदूरी     |     21वीं राज्य स्तरीय बैडमिंटन स्पर्धा के लिए चुने गए जिले के खिलाड़ी     |     इन घरेलू उपायों से मोटापा करें कम     |     महेंद्रगढ़ में सरकारी जमीन पर कब्जा करके बनाया घर जमींदोज, पुलिस फोर्स रही मौजूद     |     समाज के हर वर्ग के लिए काम कर रही सरकार- पंकज चौधरी     |     सर्व आदिवासी समाज के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री से की सौजन्य मुलाकात     |     प्रसव के लिए रुपये लेने का आरोप     |     एंटी भू-माफिया के तहत तीन के विरुद्ध गैंगस्टर की कार्रवाई     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374