उत्तर प्रदेश/गाजीपुर में नमो नमो वीर सुहेलदेव स्मृति डाक टिकट जारी -सुजीत मिश्रा सिट्टी (राज्य संपादक)-9454118975

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने आज जनपद गाजीपुर में महाराजा सुहेलदेव पर स्मारक डाक टिकट का विमोचन किया। प्रधानमंत्री जी ने राजकीय मेडिकल काॅलेज, गाजीपुर का शिलान्यास भी किया।
इस अवसर पर आई0टी0आई0 मैदान मं आयोजित एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री जी ने कहा कि महाराजा सुहेलदेव देश के उन वीरों में रहे हैं, जिन्होंने मां भारती के सम्मान के लिए संघर्ष किया। महाराजा सुहेलदेव ने आस-पास के अन्य राजाओं को संगठित कर विदेशी आक्रांता का डटकर मुकाबला करते हुए दुश्मनों को परास्त किया। वे एक बेहतरीन योद्धा, कुशल रणनीतिकार तथा संगठन शक्ति के निर्माता थे। कहते हैं कि उन्होंने अपने राज में जीवन को आसान बनाने तथा लोगों को सशक्त करने के अनेक कार्य किए थे। वर्तमान केन्द्र सरकार ऐसे वीरों को नमन करने का कार्य कर रही है। केन्द्र सरकार का दृढ़ निश्चय है कि भारत की रक्षा, सुरक्षा तथा सामाजिक जीवन को उठाने वालों की स्मृति को मिटने नहीं दिया जाएगा।
महाराजा सुहेलदेव की स्मृति में डाक टिकट जारी किया गया है। पांच रुपये का यह डाक टिकट लाखों की संख्या में देश के घर-घर पहुंचकर महाराजा सुहेलदेव की शौर्य गाथा से लोगों को परिचित कराएगा। उन्होंने कहा कि चित्तौरा, बहराइच में महाराजा सुहेलदेव ने विदेशी आक्रांताओं को पराजित किया था। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस स्थान पर उनका एक भव्य स्मारक बनाने का फैसला लिया गया है। इस निर्णय के लिए प्रधानमंत्री जी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को हार्दिक बधाई दी।
प्रधानमंत्री जी ने कहा कि महाराजा सुहेलदेव सबके थे। उनके जैसे नायक से हर वंचित हर शोषित प्रेरणा लेता है, उनका स्मरण भी ‘सबका साथ सबका विकास’ के मंत्र को नई शक्ति देता है। महाराजा सुहेलदेव दयालु और संवेदनशील थे। यहीं संवेदनशीलता सरकार तथा व्यवस्था में लाने का प्रयास किया जा रहा है। भारत सरकार तथा उत्तर प्रदेश सरकार गरीब, शोषित, वंचित वर्गों को सशक्त और समर्थ बनाने का कार्य कर रही हैं। आज गरीब से गरीब की भी सुनवाई होने का मार्ग खुला है। समाज के आखिरी पायदान पर खड़े व्यक्ति को गरिमापूर्ण जीवन देने का यह अभियान अभी शुरुआती दौर में है। सरकार इस सम्बन्ध में एक ठोस आधार बनाने में सफल हुई है। इस नींव पर मजबूत इमारत बनाने का काम अभी बाकी है।
प्रधानमंत्री जी ने कहा कि यहां राजकीय मेडिकल काॅलेज के शुरू हो जाने पर क्षेत्र की जनता को आधुनिक चिकित्सा सुविधा तो मिलेगी ही, गाजीपुर में युवा और मेधावी डाॅक्टर भी तैयार होंगे। यह मेडिकल काॅलेज आस-पास के जिलों को भी लाभान्वित करेगा। पूर्वी उत्तर प्रदेश को मेडिकल हब बनाने की दिशा में निरन्तर तेजी से कार्य किया जा रहा है। गाजीपुर के नए मेडिकल काॅलेज सहित गोरखपुर में एम्स, वाराणसी में निर्माणाधीन अनेक आधुनिक अस्पताल तथा पुराने अस्पतालों के विस्तार से पूर्वांचल में हजारों करोड़ रुपए की स्वास्थ्य सुविधाएं तैयार हो रही हैं।
प्रधानमंत्री जी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से कैंसर जैसी गम्भीर बीमारी का भी पांच लाख रुपए तक निःशुल्क इलाज कराया जा सकता है। इस योजना के प्रारम्भ होने के प्रथम 100 दिनों में पूरे देश में 6.5 लाख गरीबों को या तो मुफ्त इलाज की सुविधा प्राप्त हुई है अथवा उनका निःशुल्क उपचार हो रहा है। उत्तर प्रदेश में इस योजना के माध्यम से 14 हजार से अधिक गरीब व्यक्ति अब तक लाभान्वित हुए हैं।
प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना तथा प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री जी ने कहा कि 90 पैसे प्रतिदिन तथा 01 रुपया प्रतिमाह के मामूली प्रीमियम के भुगतान से गरीबों को सामाजिक सुरक्षा का लाभ मिल रहा है। इन योजनाओं से पूरे देश में 20 करोड़ से अधिक लोग जुड़े हैं, जिनमें उत्तर प्रदेश के 1.75 करोड़ शामिल हैं। देश में अब तक 03 हजार करोड़ रुपए से अधिक की धनराशि इन योजनाओं के माध्यम से लाभार्थियों तक पहुंची है। उत्तर प्रदेश में 400 करोड़ रुपए के क्लेम सम्बन्धित लाभार्थियों को प्राप्त हुए हैं। उन्होंने कहा कि जब सरकारें पारदर्शिता के साथ काम करती हैं, जब जनहित स्वहित से ऊपर रखा जाता है, संवेदनशीलता जब शासन का हिस्सा बनने लगती हैं, तब बड़े काम होते हैं तथा दूर की सोच के साथ स्थायी और ईमानदार प्रयास किये जा सकते हैं। उन्होंने विकास की पंचधारा का उल्लेख करते हुए कहा कि इसमें बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई, बुजुर्गाें को दवाई, किसानों को सिंचाई तथा जन-जन की सुनवाई शामिल हैं।
प्रधानमंत्री जी ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश मंे बेहतर कनेक्टिविटी के लिए प्रयास किये जा रहे हैं। पूर्वान्चल एक्सप्रेस-वे का कार्य तेज गति से हो रहा है। कालीघाट-गाजीपुर-मऊ रेल-रोड पुल शीघ्र तैयार हो जाएगा। इस क्षेत्र में रेलवे स्टेशनांे का आधुनिकीकरण, नई ट्रेनों का संचालन तथा रेलवे लाइन का दोहरीकरण तथा विद्युतीकरण कार्य हो रहा है। वाराणसी-हल्दिया जलमार्ग के विकास का लाभ जनपद गाजीपुर को भी प्राप्त होगा। इस क्षेत्र में व्यापार और कारोबार में वृद्धि होगी।
इससे पूर्व, अपने सम्बोधन में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि महाराजा सुहेलदेव के सम्मान में भारत सरकार द्वारा डाक टिकट जारी किया जाना उनके शौर्य और पराक्रम का सम्मान है। इसके लिए मुख्यमंत्री जी ने प्रधानमंत्री जी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि यह डाक टिकट महाराजा सुहेलदेव की स्मृति को प्रेरणादायी बनाने का काम करेगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विगत साढ़े चार साल में प्रदेश को केन्द्र सरकार द्वारा 13 नये राजकीय मेडिकल काॅलेज दिये गये हैं, जबकि इसके पूर्व प्रदेश में मात्र 13 सरकारी मेडिकल काॅलेज ही स्थापित थे। वर्तमान में राज्य में 02 एम्स पर कार्य चल रहा है। बी0एच0यू0 के चिकित्सा संस्थान को अत्याधुनिक रूप से विकसित किया गया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार प्रधानमंत्री जी के ‘सबका साथ-सबका विकास’ के संकल्प के अनुरूप बिना भेदभाव सरकारी योजनाओं का लाभ जरूरतमन्द लोगों तक पहुंचा रही है। हर गांव और क्षेत्र में विकास योजनाएं जमीन पर दिख रही हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में पात्र लाभार्थियों को 18 लाख आवास मिले हैं। 2.5 करोड़ से अधिक इज्जत घर (शौचालय) का निर्माण कराया गया है। 01 करोड़ परिवारों को निःशुल्क विद्युत कनेक्शन दिये गये हैं। लगभग 90 लाख महिलाओं को उज्ज्वला योजना के माध्यम से निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किया गया है।
केन्द्रीय संचार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं रेल राज्यमंत्री श्री मनोज सिन्हा ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने ‘सबका साथ-सबका विकास’ की भावना को जमीन पर उतारने का कार्य किया है। वर्तमान केन्द्र सरकार पूर्वी उत्तर प्रदेश के विकास पर विशेष ध्यान दे रही है। पूर्वी उत्तर प्रदेश में लगभग 88 हजार करोड़ रुपये की रेल और रोड परियोजनाओं पर कार्य चल रहा है।
इस अवसर पर प्रदेश के होमगार्ड राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री अनिल राजभर तथा सांसद श्री हरिनारायण राजभर ने भी अपने विचार व्यक्त किये।
कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक, राज्य सरकार के मंत्रिगण सहित अन्य जनप्रनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे

–जरिये प्रेस विज्ञप्ति उत्तर प्रदेश सूचना एवं जनसंपर्क विभाग–

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *