गरियाबंद समाज के लिए मिसाल बनी ये जोड़ी, इन्हें देख हर कोई कह रहा-‘प्यार हो तो ऐसा’

 

नरेंद्र तिवारी छुरा

गरियाबंद समाज के लिए मिसाल बनी ये जोड़ी, इन्हें देख हर कोई कह रहा-‘प्यार हो तो ऐसा’

छुरा – विकाशखण्ड छूरा के एक युवक ने दिव्यांग युवती के साथ प्रेम विवाह करके अनूठी मिसाल प्रस्तुत की है. लड़की दिव्यांग है और लड़का पूरी तरह से स्वस्थ हैं,युवक मजदूरी का काम करता है.
यह खबर एक पिक्चर की कहानी से से कम नही है जब लड़का इंद्रजीत मांझी कुसुम बुड़ा निवासी जो कि छूरा के एक दुकान में काम करता है वह अपने एक दोस्त के शादी में गया हुआ था तो उसको अपने मित्र से एक फोन नम्बर लिया और वह नम्बर शांति मांझी का था ।

लड़का लगातार उससे बात करता रहा ये जानते हुए भी की उसके दोनों हाथ नही है और उसका शरीर भी कमजोर है ।फिर भी लड़के को लड़की से बेइंतहा प्यार हो गया और लड़की ने भी लड़के के प्रपोजल को स्वीकार की और दोनों के बीच लगातार बात होती रही । लड़का को उससे इतना प्यार हो गया कि लड़की के दोनो हाथ नही है ये जानते हुए भी लड़के ने सब बातों को किनारा कर लड़के ने उससे शादी करने की ठान ली ।

जैसे ही लड़के के घरवाले ने लड़के का शादी सामाजिक लड़की से करना है करके विचार कर ही रहे थे की लड़का को इस बात का भनक लगते ही लड़के ने घर से निकलने का विचार बनाया और घरवालों को झूठ बोलकर लड़का ने अपने घर से दुकान के काम से बाहर जा रहा हु करके लड़की शांति मांझी बागबाहरा निवासी के पास चला गया और दोनो बागबाहरा में मिले फिर लड़का इंद्रजीत सोरी और लड़की शांति मांझी के मांग पर सिंदूर भरकर मंदिर में शादी करलिये ।
फिर दोनों एक माह तक एक साथ रहे इस दौरान लड़की खुद अपने पैरों से खाना बनाती थी लड़के और अपने लिए और लड़का काम पर जाता शाम को लौट आता ऐसा एक माह तक चलता रहा फिर लड़के ने अपने घर मे आने का मन बनाया और घर में दोनो जाकर माता पिता से आशीर्वाद लेना चाहा मगर समाज के डर से लड़के के घरवालों ने साफ मना कर दिया । इस बात से नाराज होकर दोनो ने छूरा थाना का दरवाजा खटखटाया और थाना प्रभारी के के वर्मा ने दोनों की बात सुनकर दोनो की उम्र की जांच की जिसमें दोनों की उम्र वैधानिक रूप से सही थी फिर के के वर्मा ने हमेशा साथ जीवन यापन करने एवं साथ रहने की समझाइस दी फिर लड़का लड़की दोनों ने थाना प्रभारी के समक्ष दोनो ने साथ जीवन जीने की बात कही थाना प्रभारी के के वर्मा , आरक्षक अनिल पांडेय ने एवं समस्त स्टाफ ने 1000 रुपये की सहायता राशि देकर दोनो को शुखद जीवन यापन करने की शुभकामनाएं दी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *