बेरोजगारी की समस्या पर नहीं दिया ध्यान, युवा हुए निराश -सत्यनारायण पटेल

बेरोजगारी की समस्या पर नहीं दिया ध्यान, युवा हुए निराश -सत्यनारायण पटेल*

बलौदाबाजार। छत्तीसगढ़ कांग्रेस सरकार के 91542 करोड़ के बजट में युवा के लिए कोई घोषणा न होने से युवा निराश हैं। भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष सत्यनारायण पटेल ने का कहना है कि रोजगार के मुद्दे पर बजट में सन्नाटा दिखा। प्रदेश में बेरोजगारी का आलम इस कदर हावी है कि दो महीने में डेढ़ लाख से अधिक युवाओं ने रोजगार के लिए पंजीयन की अर्जी दे डाली। बेरोजागारी भत्ते और नये रोजगार की आस में युवाओं की रोजगार कार्यालय के बाहर लाइन लग गई थी। लेकिन बजट में युवाओं के लिए कोई प्रावधान नहीं होने से हताशा हाथ लगी है ।

भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष ने कहा कि रोजगार एवं स्वरोजगार संचालनालय के अनुसार छत्तीसगढ़ में आज की स्थिति में बेरोजगारों की संख्या 22 लाख 20 हजार 235 है। इसी लिए यह कहा जा रहा था, कि कांग्रेस की सरकार बनते ही राज्य में अचानक युवा बेरोजगारों की संख्या डेढ़ लाख बढ़ गई है। चुनावी घोषणा ने नौकरी की तलाश में दर-दर भटकते हताश व निराश युवाओं में उम्मीद जाग गई थी। लेकिन कांग्रेस सरकार के इस बजट से स्पष्ट होता है कि उनकी कथनी और करनी में अंतर है। गौरतलब है कि कांग्रेस सरकार ने बेरोजगारों को 25 सौ रुपए भत्ता देने की बात कही है। वहीं कई विभागों के सरकारी पदों पर नियुक्तियां निकालने, स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराने आदि घोषणाएं की हैं।सरकार की घोषणा पर युवाओं को कितना भरोसा है, इसका अंदाजा आगामी लोकसभा चुनाव में लगाया जा सकता है।

भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष ने कहा की ऐसी स्थिति देखने में आ रहा है, कि प्रदेश के युवाओं में नकारात्मकता जन्म ले रही है।वे हर वस्तु अति शीघ्र प्राप्त कर लेना चाहते हैं। वे आगे बढ़ने के लिए कठिन परिश्रम की बजाय शार्टकट डुढ़ते हैं।अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में जब वे असफल हो जाते हैं, तो उनमें चिड़चिड़ापन आ जाता है। इस दिशा में सरकार को निश्चित रूप से गंभीर रूप विचार करते हुए रोजगार एवं स्वरोजगार के लिए प्रस्ताव लाने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *