प्रत्याशी बदलने से कांग्रेस में रार अमनमणि की बेटी का टिकट कटा-कृष्ण कुमार पांडेय

संसदीय क्षेत्र महाराजगंज में कांग्रेस पार्टी में सुप्रिया श्रीनेत को टिकट मिलने पर पार्टी के एक भाग अपना विरोध जताकर कहा कि पार्टी हाईकमान ने जमीनी नेता को टिकट ना देकर हेलीकॉप्टर रूपी नेता को टिकट दे दिया गया है ।
बताते चलें कि कांग्रेस पार्टी द्वारा सूबे के पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के पुत्री तनुश्री का टिकट दिया गया था, लेकिन 24 घंटे के अंदर ही कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के विरोध के कारण पार्टी हाई कमान तनुश्री का टिकट काटकर कांग्रेस के पूर्व सांसद स्वर्गीय हर्षवर्धन के पुत्री सुप्रिया श्रीनेत को दे दिया गया। जिसको लेकर उनके समर्थकों में काफी खुशी हुई, ढोल नगाड़ों के साथ पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा हाई कमान के निर्देश का स्वागत किया जा रहा है । लेकिन वहीं पार्टी कार्यकर्ताओं के दूसरे भाग जो पार्टी के वरिष्ठ नेता राकेश कुमार गुप्ता के समर्थक हैं उनमें काफी आक्रोश व्याप्त है  क्षेत्र महाराजगंज में कांग्रेस पार्टी में सुप्रिया श्रीनेत को टिकट मिलने पर पार्टी के एक भाग अपना विरोध जताकर कहा कि पार्टी हाईकमान ने जमीनी नेता को टिकट ना देकर हेलीकॉप्टर रूपी नेता को टिकट दे दिया गया है ।
 उनके समर्थकों का यह आरोप है कि पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी व प्रियंका गांधी द्वारा लखनऊ एक कार्यक्रम में स्पष्ट रूप से कहा गया था कि जमीनी स्तर पर कार्य करने व युवा लोगों को ही पार्टी टिकट देगी, किसी भी हेलीकॉप्टर टाइप के नेता को टिकट नहीं दिया जाएगा, जबकि इसको दरकिनार करते हुए पार्टी हाईकमान ने सुप्रिया श्रीनेत को टिकट दिया है। जिससे उन्हें काफी निराशा हुई है ।
समर्थकों ने कहा कि राकेश गुप्ता चार साल से जमीनी स्तर पर पार्टी की नीतियों को लोगों के बीच समझाने वह पार्टी के पक्ष में मतदान करने व मजबूत करने का कार्य किया है । उन्होंने यह भी कहा कि अगर महिला को ही टिकट देना था तो युवा कांग्रेसी नेता राकेश गुप्ता के पत्नी को टिकट दिया जाता लेकिन पार्टी हाईकमान हम कांग्रेसी कार्यकर्ताओ के मनोबल गिराने का काम किया है। अगर जल्द से जल्द मामले को संज्ञान में लेते हुए पार्टी हाई कमान प्रत्याशी नहीं बदलती है तो हम कार्यकर्ता कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा भी देने के लिए तैयार हैं।

गौरतलब है कि अमरमणि के बेटे अमनमणि अभी जिले की नौतनवा सीट से निर्दलीय विधायक है  उनकी बहन को टिकट मिलने से निश्चित ही कांग्रेस को बढ़त मिल सकती थी लेकिन आपसी मतभेद का दौर जारी है जिसका नुकशान कांग्रेस को होना लगभग तय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *