Breaking
गोपालगंज।ट्रिपल मर्डर केस मामले में कुख्यात सतीश पाण्डेय सहित तीन को कोर्ट ने किया बरी। 3 साल पहले 8 माह में कुष्ठ के 568 नए मरीज खोजे, इस बार अप्रैल माह से अब तक सिर्फ 256 केस ही मिल पाए कई रोमांचक कारनामे कर चुका; अब 23 घंटे में एवरेस्ट बेस कैंप चढ़ा 27 केंद्रों पर दो सत्रों में होगी परीक्षा, नकल रोकने के लिए होंगे समुचित प्रबंध, अधिकारियों ने बनाई ... कर्मचारियों ने किराए के भवन में लिया शरण, लोग बोले- कई बार की गई शिकायत CM ने दिल्ली की 11 व्यापारी एसोसिएशन से मुलाकात; वेयर हाउसिंग पॉलिसी का दिया प्रपोजल खेत में काम कर रही महिला को गोली लगी, एक किमी दूर चल रही थी एसएएफ की फायरिंग पानी, बिजली-स्वास्थ्य के मुद्दे पर अफसरों को घेरेंगे सदस्य; चुनाव के बाद दूसरी बैठक बहन ने ज्वेलर के खिलाफ दायर की थी याचिका; मंजूर हुई झीरमघाटी हमले में खोया इकलौता बेटा,अनुकंपा नियुक्ति पाकर भूल गई बहू,मदद के लिए आगे आया आयोग

नेपाल में सुप्रीम कोर्ट के सामने भिड़े वकील, मुख्य न्यायाधीश के इस्तीफे की मांग को लेकर चल रहा आंदोलन

Whats App

काठमांडू। नेपाल की राजधानी काठमांडू में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के सामने वकीलों के दो गुट आपस में भिड़ गए। हाथापाई में कुछ लोगों को मामूली चोटें भी आई हैं। यह हाथापाई मुख्य न्यायाधीश चोलेंद्र शमशेर राणा के समर्थक और विरोधी गुटों के बीच हुई। पुलिस ने मुख्य न्यायाधीश के समर्थक पांच वकीलों को गिरफ्तार कर लिया है।

नेपाल में करीब दो हफ्तों से मुख्य न्यायाधीश के इस्तीफे की मांग को लेकर नेपाल बार एसोसिएशन आंदोलन छेड़े हुए हैं। वकीलों का बड़ा वर्ग एसोसिएशन के साथ है। सुप्रीम कोर्ट के 19 में से 18 न्यायाधीश भी बार एसोसिएशन की मांग के समर्थन में हैं। मुख्य न्यायाधीश के कुछ फैसलों पर सवाल उठाते हुए वकील और न्यायाधीश उनके इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। बार एसोसिएशन ने अपनी मांग के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट के सामने धरना दे रखा है। वहीं पर मुख्य न्यायाधीश समर्थकों ने भी धरना देने की कोशिश की। इस पर उनकी विरोधी गुट से पहले कहा-सुनी और उसके बाद हाथापाई हो गई।

मानवाधिकार संगठनों और तटस्थ लोगों ने जनहित में सुप्रीम कोर्ट में बने गतिरोध को जल्द खत्म करने की मांग की है। कहा है कि आंदोलन के चलते सुप्रीम कोर्ट का कामकाज ठप है जिससे जनहित के कई मामलों की सुनवाई नहीं हो पा रही है। कई मामलों में लोगों को न्याय नहीं मिल पा रहा है। इन लोगों ने नेपाल की न्यायपालिका की गरिमा बनाए रखने के लिए गतिरोध को जल्द दूर किए जाने की मांग की है।

Whats App

सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ताओं और न्यायाधीशों ने नेपाल के सर्वोच्च न्यायालय के प्रमुख पर हेराफेरी का आरोप लगाते हुए सितंबर के अंत से सीजे राणा के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया था। आंदोलनकारी अधिवक्ताओं और न्यायाधीशों ने मुख्य न्यायाधीश राणा पर बेंच शापिंग का भी आरोप लगाया है, जिसका अर्थ है कि किसी एक पक्ष के लिए अनुकूल निर्णय लेने के उद्देश्य से सुनवाई की गई थी। आरोप ये भी हैं कि कोर्ट सुधार का कोई काम करने में नाकाम रही है। कुल मिलाकर न्यायपालिका में विसंगतियों, अनियमितताओं और भ्रष्टाचार के आरोप लगते रहे हैं।

3 साल पहले 8 माह में कुष्ठ के 568 नए मरीज खोजे, इस बार अप्रैल माह से अब तक सिर्फ 256 केस ही मिल पाए     |     कई रोमांचक कारनामे कर चुका; अब 23 घंटे में एवरेस्ट बेस कैंप चढ़ा     |     27 केंद्रों पर दो सत्रों में होगी परीक्षा, नकल रोकने के लिए होंगे समुचित प्रबंध, अधिकारियों ने बनाई योजना     |     कर्मचारियों ने किराए के भवन में लिया शरण, लोग बोले- कई बार की गई शिकायत     |     CM ने दिल्ली की 11 व्यापारी एसोसिएशन से मुलाकात; वेयर हाउसिंग पॉलिसी का दिया प्रपोजल     |     खेत में काम कर रही महिला को गोली लगी, एक किमी दूर चल रही थी एसएएफ की फायरिंग     |     पानी, बिजली-स्वास्थ्य के मुद्दे पर अफसरों को घेरेंगे सदस्य; चुनाव के बाद दूसरी बैठक     |     बहन ने ज्वेलर के खिलाफ दायर की थी याचिका; मंजूर हुई     |     झीरमघाटी हमले में खोया इकलौता बेटा,अनुकंपा नियुक्ति पाकर भूल गई बहू,मदद के लिए आगे आया आयोग     |     गोपालगंज।ट्रिपल मर्डर केस मामले में कुख्यात सतीश पाण्डेय सहित तीन को कोर्ट ने किया बरी।     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374