Breaking
सोनीपत में 900 एकड़ में लगेगी फैक्ट्री, PM मोदी 28 को वर्चुअली करेंगे शिलान्यास जन्माष्टमी पर कान्हा की भक्ति में डूबा रहेगा संसार जन्माष्टमी की तारीख को लेकर न हों भ्रमित मोहाली में अस्पताल का उद्घाटन करेंगे; AAP सरकार में पहला दौरा, कांग्रेस के वक्त सुरक्षा चूक हुई रफ्तार में कार रेलिंग से टकराई, एयरबैग तक खुल गए पर नहीं बचा पाए जिंगदी, सैनिक की मौत हालत गंभीर, बिरयानी खाने गया था, कोतवाली प्रभारी बोले- दोनों शराब के नशे में थे दिल्ली हाईकोर्ट ने रेस्तरां में आम ग्राहकों से सेवा शुल्क लाने पर उठाए सवाल झलाई के जंगल में जानवर चराने गया था चरवाहा, हमले से शरीर में कई जगह लगी चोट परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा; शहीद के नाम पर होगा स्कूल का नामकरण लखीमपुर में देश भर से पहुंच रहे किसान, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की करेंगे मांग

DG ISPR ने जताया सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन पर दुख, लोगों ने कहा कि देश के प्रहरी को सलाम

Whats App

नई दिल्‍ली। सीडीएस जनरल बिपिन रावत हमेशा ही पाकिस्‍ताना को भारत के लिए खतरा नंबर दो मानते थे। उनके लिए सबसे बड़ा खतरा चीन था। इस बात को उन्‍होंने कई बार उजागर भी किया था। पाकिस्‍तान की बात करें तो आतंकियों के खिलाफ आपरेशन का उन्‍हें काफी अनुभव था। इसलिए ही उनके नेतृत्‍व में आतंकियों के खात्‍मे के लिए जो आपरेशन आल आउट चलाया गया था उसको जबरदस्‍त सफलता मिली थी।

एक निजी चैनल के कार्यक्रम में एक बार उन्‍होंने कहा था कि इसकी सफलता का श्रेय उन्‍हें नहीं बल्कि उन जवानों को जाता है जो जम्‍मू कश्‍मीर के मौजूदा हालातों को जानते हैं और अपने काम को अंजाम देते हैं। पाकिस्‍तान को लेकर दिए गए उनके बयानों पर अक्‍सर पाकिस्‍तान की सेना की तरफ से तीखी बयानबाजी की जाती थी। लेकिन आज पाकिस्‍तान ने भी इस जांबाज फौजी के आकस्मिक निधन पर शोक जताया है।

पाकिस्‍तान के डीजीआईएसपीआर द्वारा किए गए ट्वीट में पाकिस्‍तान के आर्मी चीफ और अन्‍य की तरफ से कहा गया है कि जनरल नदीम रजा, जनरल कमर जावेद बाजवा और सीओएएस (चीफ ऑफ द आर्मी स्टाफ) भारत में हुए हेलीकॉप्टर क्रैश में सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और अन्य लोगों की दुर्भाग्यपूर्ण मौत पर अपनी संवेदनाएं जाहिर करते हैं।

Whats App

आपको बता दें कि पाकिस्तान के मौजूदा आर्मी चीफ जनरल कमर बाजवा संयुक्त राष्ट्र की शांति सेना के तहत कांगो मिशन में एक साथ सेवाएं दे चुके हैं। उस वक्‍त जनरल बाजवा सीडीएस बिपिन रावत के जूनियर के रूप में काम करते थे। जनरल बाजवा और सीडीएस बिपिन रावत में कई समानताएं भी थीं। दोनों ने ही अपना लंबा समय सीमा पर कमांडर के रूप में सेवा देते हुए बिताया था। दोनों ने ही अपने-अपने देशों के सर्वोत्‍तम आर्मी कालेज से पढ़ाई और ट्रेनिंग ली थी और दोनों को ही आतंकियों के खिलाफ लड़ाई का लंबा अनुभव था। दोनों को ही इसमें एक्‍सपर्ट माना जाता था।

आपको बता दें कि पाकिस्‍तान सेना ने जब सीडीएस रावत के निधन को लेकर ट्वीट कर शोक जताया तो कुछ लोगों ने इस पर ऐतराज भी जताया। वहीं कुछ लोगों ने ऐसे लोगों को करारा जवाब देते हुए कहा कि देश की सीमा के हर प्रहरी को सम्‍मान देना चाहिए यही मानवता है और यही एक जवान के लिए सबसे बड़ा सम्‍मान भी है।

सोनीपत में 900 एकड़ में लगेगी फैक्ट्री, PM मोदी 28 को वर्चुअली करेंगे शिलान्यास     |     जन्माष्टमी पर कान्हा की भक्ति में डूबा रहेगा संसार     |     जन्माष्टमी की तारीख को लेकर न हों भ्रमित     |     मोहाली में अस्पताल का उद्घाटन करेंगे; AAP सरकार में पहला दौरा, कांग्रेस के वक्त सुरक्षा चूक हुई     |     रफ्तार में कार रेलिंग से टकराई, एयरबैग तक खुल गए पर नहीं बचा पाए जिंगदी, सैनिक की मौत     |     हालत गंभीर, बिरयानी खाने गया था, कोतवाली प्रभारी बोले- दोनों शराब के नशे में थे     |     दिल्ली हाईकोर्ट ने रेस्तरां में आम ग्राहकों से सेवा शुल्क लाने पर उठाए सवाल     |     झलाई के जंगल में जानवर चराने गया था चरवाहा, हमले से शरीर में कई जगह लगी चोट     |     परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा; शहीद के नाम पर होगा स्कूल का नामकरण     |     लखीमपुर में देश भर से पहुंच रहे किसान, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के इस्तीफे की करेंगे मांग     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374