Breaking
बांधी 75 फुट की हरी-भरी राखी, बहनें बोली - पेड़ हमारे हरे-भरे भैया भालू नें कई लोगों को किया घायल घर बैठे ही लोगों को मिला 12 लाख स्मार्ट कार्ड आधारित पंजीयन प्रमाण-पत्र तथा ड्राइविंग लायसेंस मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सामुदायिक वन संसाधन अधिकार जागरूकता अभियान का किया शुभारंभ मुख्यालय सहित विभिन्न नगरों में निकाली रैली; विद्यार्थी, शिक्षकों एवं पुलिस कर्मी रहे शामिल नीतीश आठवीं बार बने सीएम अपर कलेक्टर ने जारी किया आदेश, हितग्राही को नहीं दे रहे थे योजना का लाभ सीहोर में जिला संस्कार मंच ने ग्रामीणों को 100 से अधिक तिरंगे निशुल्क बांटे महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश Skoda Enyaq iV की शुरू हुई टेस्टिंग

आतंकी श्रेणी में रखने से भड़का सिख समुदाय सड़कों पर उतरा, SP के खिलाफ की कार्रवाई की मांग

Whats App

जबलपुर: मध्य प्रदेश के कटनी जिले के पुलिस अधिकारी के एक पत्र ने सिख समुदाय की भावना को इतनी ठेस पहुंचाई कि वह सड़क पर आ गए। जबलपुर में सिख समुदाय के लोग बड़ी संख्या में आईजी कार्यालय पहुंचे और कटनी एसपी के पत्र पर आक्रोश व्यक्त किया। हालांकि कटनी एसपी इस मामले में माफी मांग चुके हैं लेकिन सिख समुदाय की मांग है कि यह एक बड़ी लापरवाही है इस पर एक्शन होना चाहिए। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधिकारियों ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

ये है पूरा मामला
मध्य प्रदेश के राज्यपाल मंगू भाई पटेल के कटनी प्रवास के दौरान वहां के एस पी सुनील जैन ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर एक पत्र जारी किया था। राज्यपाल की सुरक्षा को लेकर पुलिस महकमें के चौकन्ना रहने के लिए लिखे गए इस पत्र के कॉलम नंबर 6 में उल्लेखित बातों को लेकर बवाल मच गया। उसमें लिखा था कि सिख, मुसलमान, जेकेएलएफ, उल्फा, सिमी, एलटीटीई आतंकवादियों पर सख्त नजर रखी जाए। आतंकवादी संगठन से अलर्ट रहना समझ में आता है लेकिन सिख और मुसलमान धर्म को आतंक की श्रेणी में रखने से नाराज लोग अब जिम्मेदारों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

टाइपिंग मिस्टेक बताकर झाड़ा पल्ला…
इधर पुलिस महकमा इस मामले में पहले ही खेद जता चुका है लेकिन अब जो दलील उनके द्वारा दी जा रही है वह समझ से परे है। जबलपुर जोन के आईजी उमेश जोगा इसे टाईपिंग मिस्टेक बता रहे हैं और कार्रवाई का भरोसा दिला रहे हैं। सवाल यह उठता है कि अगर टाईपिंग मिस्टेक है तो कटनी एस पी सुनील जैन को नजर क्यों नहीं आई

Whats App

वहीं सिख समुदाय के आक्रोश के बाद पुलिस अधिकारी अब कार्रवाई का भरोसा दिला रहे हैं। देखना यह है कि इस गंभीर मामले में कार्रवाई की गाज किस पर गिरेगी। क्या टाइपिंग मिस्टेक के आधार पर पुलिस महकमा किसी छोटे कर्मचारी को सारे बवाल का जिम्मेदार ठहरा देगा या फिर पुलिस अधीक्षक पद पर आसीन सुनील जैन भी कार्रवाई की दायरे में आएंगे।

बांधी 75 फुट की हरी-भरी राखी, बहनें बोली – पेड़ हमारे हरे-भरे भैया     |     भालू नें कई लोगों को किया घायल     |     घर बैठे ही लोगों को मिला 12 लाख स्मार्ट कार्ड आधारित पंजीयन प्रमाण-पत्र तथा ड्राइविंग लायसेंस     |     मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सामुदायिक वन संसाधन अधिकार जागरूकता अभियान का किया शुभारंभ     |     मुख्यालय सहित विभिन्न नगरों में निकाली रैली; विद्यार्थी, शिक्षकों एवं पुलिस कर्मी रहे शामिल     |     नीतीश आठवीं बार बने सीएम     |     अपर कलेक्टर ने जारी किया आदेश, हितग्राही को नहीं दे रहे थे योजना का लाभ     |     सीहोर में जिला संस्कार मंच ने ग्रामीणों को 100 से अधिक तिरंगे निशुल्क बांटे     |     महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश     |     Skoda Enyaq iV की शुरू हुई टेस्टिंग     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374