Breaking
लॉक अप फेम पायल रोहतगी अपने बॉयफ्रेंड संग्राम सिंह से जुलाई करेगी शादी  सभी ATM से बिना कार्ड निकाल सकेंगे पैसे, बैंकों को यह सुविधा जल्द शुरू करने का निर्देश   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5G टेस्टबेड किया लॉन्च डोमिनिका में अवैध एंट्री के मामले में चोकसी पर दर्ज केस वापस पाकिस्तानी सोशल मीडिया स्टार कंदील बलोच पर बनेगी फिल्म सभी जिला कलेक्टर भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति का क्रियान्वयन करें सुनिश्चित आईपीएल 2022 के मुकाबले में अर्जुन तेंदुलकर करेंगे डेब्यू शिमरन हेटमायर की पत्नी पर कमेंट करके बुरे फंसे सुनील गावस्कर सियासतः CM शिवराज के मॉर्निंग एक्शन मोड बैठक को पूर्व सीएम कमलनाथ ने बताया नाटक नौटंकी, कहा- अब ये प... इजरायल ने सीरिया पर किया हमला

गोपालगंज।वित्तीय अनियमितता को लेकर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने किया भोरे रेफरल अस्पताल का जांच।

Whats App

गुरूवार को भोरे रेफरल अस्पताल की जांच की गयी. स्वास्थ्य विभाग की पांच सदस्यीय टीम ने जांच की. इस दौरान टीम ने कथित वित्तीय और प्रशासनिक अनियमितता की जांच की. जांच को लेकर पूरे दिन अस्पताल परिसर में अफरा तफरी मची रही. देर शाम तक चली जांच के बाद टीम गोपालगंज के सिविल सर्जन को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. बता दें कि 31 जुलाई को अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में प्रखंड की सभी आशा कार्यकर्ताओं ने रेफरल अस्पताल परिसर में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. खाबर इमाम के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया था.

इसे लेकर गोपालगंज के सिविल सर्जन डॉ. योगेंद्र महतो गोपालगंज से भोरे पहुंचे थे. जहां आशा कार्यकर्ताओं ने डॉ. खाबर इमाम के खिलाफ वित्तीय और प्रशासनिक अनियमितता का आरोप लगाया था. इसके बाद सिविल सर्जन ने भी अस्पताल की जांच की थी. इसके अगले ही दिन सिविल सर्जन ने भोरे रेफरल अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. खाबर इमाम को हटाते हुए डॉ. देवकांत को प्रभारी बना दिया था. प्रभारी के खिलाफ लगे आरोपों की जांच के लिए सिविल सर्जन ने पांच सदस्यीय टीम का गठन किया. जिसमें अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, गोपालगंज डॉ. संजीव कुमार, सदर अस्पताल के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. संजय कुमार सिंह, बरौली के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. विजय कुमार पासवान, सिविल सर्जन कार्यालय के लिपिक राजेश कुमार, जिला स्वास्थ्य समिति के लेखा प्रबंधक नवीन कुमार को शामिल किया गया. गुरूवार को गोपालगंज से पांच सदस्यीय टीम भोरे पहुंची, जहां अस्पताल में हुए कायाकल्प को देखा. साथ ही अस्पताल परिसर में बन रहे कोविड वार्ड को निरीक्षण किया. इसके साथ ही के इन कार्यों के लिए किये गये खर्च का लेखा-जोखा भी देखा गया. इस दौरान वहां मौजूद लोगों का भी बयान टीम ने दर्ज किया. जहां लोगों ने अस्पताल में हुए विकास कार्यों पर संतुष्टि जतायी. हालांकि देर शाम तक चली जांच के कारण जांच रिपोर्ट सामने नहीं आ पायी है. जांच टीम अपनी रिपोर्ट तीन दिनों के अंदर सिविल सर्जन को सौंपेगी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

लॉक अप फेम पायल रोहतगी अपने बॉयफ्रेंड संग्राम सिंह से जुलाई करेगी शादी      |     सभी ATM से बिना कार्ड निकाल सकेंगे पैसे, बैंकों को यह सुविधा जल्द शुरू करने का निर्देश       |     प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5G टेस्टबेड किया लॉन्च     |     डोमिनिका में अवैध एंट्री के मामले में चोकसी पर दर्ज केस वापस     |     पाकिस्तानी सोशल मीडिया स्टार कंदील बलोच पर बनेगी फिल्म     |     सभी जिला कलेक्टर भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति का क्रियान्वयन करें सुनिश्चित     |     आईपीएल 2022 के मुकाबले में अर्जुन तेंदुलकर करेंगे डेब्यू     |     शिमरन हेटमायर की पत्नी पर कमेंट करके बुरे फंसे सुनील गावस्कर     |     सियासतः CM शिवराज के मॉर्निंग एक्शन मोड बैठक को पूर्व सीएम कमलनाथ ने बताया नाटक नौटंकी, कहा- अब ये परमानेंट ठेला चलाएंगे     |     इजरायल ने सीरिया पर किया हमला     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374