Breaking
18 जिलों के 46 नगरीय निकायों में प्रचार थमा ठीक से चल नहीं पा रही थी सारा अली खान, एक्ट्रेस की हरकत देख शॉक्ड रह गए नेटिजेंस ज्योतिष पीठ के नए शंकराचार्य पर विवाद शुरू 9 को भेजा नोटिस, सीएचओ को 5 माह से भुगतान न मिलने पर डीएम ने जताई नाराजगी ‘पठान’ की डबिंग में व्यस्त हैं दीपिका सरदार सरोवर डैम से दोगुना हुआ बिजली का उत्पादन राधिका के लिए सहज है सैफ अली खान के साथ काम करना 5 बार कर चुका आत्महत्या की कोशिश, डॉक्टर बोले- मानसिक संतुलन ठीक | In Ludhiana jail, the hawalaati c... मुख्यमंत्री बघेल से भारतीय बैडमिंटन टीम के राष्ट्रीय कोच गोपीचंद ने की सौजन्य मुलाकात पंचायत से बाहर निकालकर पीटा, घर पर शिकायत करने पर जानलेव हमला किया

अरुणाचल प्रदेश: किडनैप किशोर को लेकर भारतीय सेना ने चीनी सेना से किया संपर्क, कहा- प्रोटोकॉल के तहत भेजें वापस

Whats App

नई दिल्‍ली। भारत ने अरुणाचल प्रदेश से चीन की पीपुल्‍स लिब्रेशन आर्मी द्वारा अगवा किया गए 17 वर्षीय किशोर मिराम टैरोन सकुशल वापस करने की मांग की है। रक्षा सूत्रों के मुताबिक इस घटना की जानकारी होने के तुरंत बाद भारतीय सेना की तरफ से पीएलए से संपर्क किया गया था। इसके बाद पीएलए ने मिराम की जानकारी हासिल करने और नियमानुसार उसको वापस करने को कहा है।

अरुणाचल प्रदेश के सांसद तापिर गाव (Arunachal MP Tapir Gao) ने इस तरह का दावा किया था। इसमें उन्‍होंने कहा था कि अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सियांग जिले के एक 17 वर्षीय किशोर का पीएलएल ने अपहरण कर लिया है। अपने एक ट्वीट में उन्‍होंने लिखा था कि पीएलए की कैद से बचकर भागे एक दूसरे भारतीय ने इसकी जानकारी अधिकारियों की दी है। उन्‍होंने ये भी लिखा था कि भारतीय किशोर के अपहरण के बारे में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री एन प्रमाणिक को सूचित कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक मिराम को सियुंगला क्षेत्र के लुंगटा जोर इलाके से उसे अगवा किया गया था। मिराम जिदा गांव का रहने वाला एक स्थानीय शिकारी है। ये घटना त्सांगपो नदी के पास हुई थी। आपको बता दें कि ये नदी अरुणाचल प्रदेश से ही भारत की सीमा में प्रवेश करती है। इसे अरुणाचल प्रदेश में सियांग और असम में ब्रह्मपुत्र के नाम से जाना जाता है। गौरतलब है कि वर्ष 2018 में चीन ने अरुणाचल प्रदेश के सियांग जिले के इस इलाके में कथित रूप से भारतीय सीमा के अंदर तीन से चार किमी की सड़क बना ली थी।

Whats App

आपको यहां पर ये भी बता दें कि चीन पिछले काफी समय से अरुणाचल पद्रेश को लेकर अपनी आक्रामक नीति दिखाता रहा है। पिछले दिनों ही चीन ने अरुणाचल पद्रेश के कुछ इलाकों का नाम बदल दिया था। हालांकि भारत ने इसको हमेशा से ही खारिज किया है।

18 जिलों के 46 नगरीय निकायों में प्रचार थमा     |     ठीक से चल नहीं पा रही थी सारा अली खान, एक्ट्रेस की हरकत देख शॉक्ड रह गए नेटिजेंस     |     ज्योतिष पीठ के नए शंकराचार्य पर विवाद शुरू     |     9 को भेजा नोटिस, सीएचओ को 5 माह से भुगतान न मिलने पर डीएम ने जताई नाराजगी     |     ‘पठान’ की डबिंग में व्यस्त हैं दीपिका     |     सरदार सरोवर डैम से दोगुना हुआ बिजली का उत्पादन     |     राधिका के लिए सहज है सैफ अली खान के साथ काम करना     |     5 बार कर चुका आत्महत्या की कोशिश, डॉक्टर बोले- मानसिक संतुलन ठीक | In Ludhiana jail, the hawalaati cut his wr, the police regered a case     |     मुख्यमंत्री बघेल से भारतीय बैडमिंटन टीम के राष्ट्रीय कोच गोपीचंद ने की सौजन्य मुलाकात     |     पंचायत से बाहर निकालकर पीटा, घर पर शिकायत करने पर जानलेव हमला किया     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374