New Year
Breaking
गोपालगंज।अन्तर जिला गिरोह के चार सरगना गिरफ्तार मोतिहारी के रहने वाले हैं लुटेरे. मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक संस्था के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया जल्द चुनाव के लिए तैयार हैं तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष शिवाजी मार्केट की दुकानें शिफ्ट करना फिर अटका  राष्ट्रपति का अभिभाषण, चुनावी भाषण और सरकार का प्रोपेगेंडा था : शशि थरूर मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार...

बिहारः पारस पर चिराग के करीबी सौरभ का चिट्ठी वार, कहा-BJP से गठजोड़ से कारण शुरू हुआ विवाद

Whats App

जमुई (भागलपुर)। लोक जनशक्ति पार्टी कुछ दिनों पहले विवादों को लेकर काफी चर्चा में रही। पशुपति पारस एवं चिराग पासवान गुट के बीच कई मुद्दों को लेकर राजनीतिक चर्चाएं गर्म होती रहीं। इन विवादों को लेकर प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से सौरभ पांडे पर सवाल उठता रहा। अब केंद्रीय मंत्री रहे रामविलास पासवान के करीबी सौरभ ने चुप्पी तोड़ते हुए एक पत्र सार्वजनिक किया है। इसमें पशुपति कुमार पारस को लेकर कई बातों का खुलासा किया है। सौरभ पांडे ने लोक जनशक्ति पार्टी के गुटों के बीच चल रहे विवादों पर कहा कि पारस कृष्ण राज को भाजपा से चुनाव लड़ाना चाहते थे, इसी बात को लेकर परिवार और पार्टी में विवाद की शुरुआत हुई थी।

उन्होंने कहा कि सांसद चिराग पासवान चाचा पारस का सम्मान अपने पिता से कम नहीं करते हैं। रामविलास की पत्नी के मुंह से भी मैंने हमेशा पारस के लिए अच्छा सुना। सौरभ ने कहा कि चिराग पासवान पिता के निधन के बाद अकेले पड़ गए थे, ऐसे मैंने भाई और दोस्त के नाते उनका और बिहार का मार्गदर्शन करना मेरी जिम्मेदारी थी। उन्होंने कहा कि बिहार फर्स्ट सोच के कारण चिराग की आशीर्वाद यात्रा सफल रही। सौरभ ने कहा कि बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट से चिराग पासवान ने कोई समझौता नहीं किया और केंद्र में मंत्री बनने की भी परवाह नहीं की

लगातार मिल रही थी मेरे खिलाफ बोलने की खबर

Whats App

पत्र में सौरभ पांडे ने कहा है कि मैंने बिहार को ना सिर्फ अपनी बल्कि रामविलास पासवान की आंखों से भी देखा है। उन्होंने कहा कि समाचार के माध्यम से पारस के द्वारा मेरे खिलाफ बोले जाने की खबर लगातार मिलती रही। मैंने कभी कुछ नहीं कहा, परंतु रामविलास पासवान की बरसी के बाद मुझे लगा कि मैं अपनी स्थिति स्पष्ट कर दूं, ताकि आगे से आप कुछ बोलने से बचें।

एमपी-एमएलए बहुत, नेता कोई-कोई होता है

सौरभ पांडे ने कहा कि मैं इस बात को मानता हूं बिहार विधानसभा चुनाव में जो गठबंधन हुए वह मात्र खुद जीतने के लिए हुए। गठबंधन से बिहार को कोई लाभ नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि रामविलास पासवान अक्सर मुझसे कहा करते थे कि एमपी-एमएलए हजारों होते हैं लेकिन नेता कोई-कोई होता है। सौरभ ने कहा कि मुझे खुशी है कि उनका बेटा ऐसे ही नेताओं की श्रेणी में आ रहा है।

मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक संस्था के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया     |     जल्द चुनाव के लिए तैयार हैं तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष     |     शिवाजी मार्केट की दुकानें शिफ्ट करना फिर अटका      |     राष्ट्रपति का अभिभाषण, चुनावी भाषण और सरकार का प्रोपेगेंडा था : शशि थरूर     |     मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव     |     आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी     |     केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक     |     दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म ‘द क्रू’ में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ     |     मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार…     |     गोपालगंज।अन्तर जिला गिरोह के चार सरगना गिरफ्तार मोतिहारी के रहने वाले हैं लुटेरे.     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374