New Year
Breaking
गोपालगंज।अन्तर जिला गिरोह के चार सरगना गिरफ्तार मोतिहारी के रहने वाले हैं लुटेरे. मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक संस्था के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया जल्द चुनाव के लिए तैयार हैं तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष शिवाजी मार्केट की दुकानें शिफ्ट करना फिर अटका  राष्ट्रपति का अभिभाषण, चुनावी भाषण और सरकार का प्रोपेगेंडा था : शशि थरूर मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार...

पृथ्वीपुर सीट पर जीत के रास्ते मध्य प्रदेश की राजनीति में उमा भारती की वापसी की चर्चा

Whats App

भोपाल। मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने पृथ्वीपुर विधानसभा सीट कांग्रेस से छीनकर भाजपा की झोली में डालने में अहम भूमिका निभाई। इसे उनकी प्रदेश की राजनीति में वापसी के रूप में देखा जा रहा है। पृथ्वीपुर उमा का गृह क्षेत्र है, यहां उमा न केवल लगातार सक्रिय रहीं, बल्कि 13 चुनावी सभाएं कीं। साथ ही, जनसंपर्क किया और सामाजिक संगठनों से समन्वय भी किया। उमा भारती ने मप्र के पृथ्वीपुर में जातिगत समीकरणों को साधने में भी विशेष भूमिका निभाई। इस दौरान उमा भारती के साथ मंत्री गोपाल भार्गव, विश्वास सारंग और भारत सिंह कुशवाह पार्टी के कई पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ मोर्चे पर डटे रहे

चुनावी राजनीति में वापसी की जताई थी इच्छा

Whats App

दरअसल, उमा भारती ने पिछले साल हुए 28 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के दौरान चुनावी राजनीति में वापसी की इच्छा जताई थी, लेकिन वह मध्य प्रदेश या उत्तर प्रदेश में कहां से सक्रिय होने की इच्छुक हैं, यह स्पष्ट नहीं था। इसके बाद वह नशाबंदी जैसे मुद्दे पर मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार को भी बार-बार असहज स्थिति में लाती रहीं। इस बीच, खंडवा लोकसभा सहित तीन विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की स्थिति बनने के बाद उन्होंने पृथ्वीपुर क्षेत्र में सक्रियता बढ़ा दी। यह क्षेत्र निवाड़ी जिले में है, जो पहले टीकमगढ़ जिले का हिस्सा था। उत्तर प्रदेश के झांसी से सांसद रहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती का गृह क्षेत्र टीकमगढ़ ही है। ऐसे में माना जा रहा है कि पृथ्वीपुर में जीत ने उमा भारती की मुख्यधारा या यह कहें कि चुनावी राजनीति में वापसी का रास्ता खोल दिया है। उन्होंने 2019 में चुनाव नहीं लड़ा था, लेकिन उपचुनाव प्रचार के दौरान 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ने की भी इच्छा जाहिर की है। गृह क्षेत्र होने से उमा भारती जातिगत समीकरणों की नब्ज टटोलने में कामयाब रहीं

अब नए दौर क तैयारी

उपचुनाव में उमा के ऐसे समर्थक भी सक्रिय दिखे, जो लंबे समय से सुस्त थे। अब नए दौर की तैयारी राजनीतिक विश्लेषक उमा भारती को स्टार प्रचारक से आगे एक नए दौर की तैयारी करते हुए देख रहे हैं। उन्होंने जिस तरह उपचुनाव में सक्रियता दिखाई उसे महज केवल इस जीत तक सीमित नहीं माना जा सकता। उनके करीबी भी संकेत दे रहे हैं कि उमा भारती ने पृथ्वीपुर में सक्रियता से लोकसभा चुनाव की तैयारियों को श्रीगणेश कर दिया है। हालांकि मध्य प्रदेश या उत्तर प्रदेश, कहां से दावेदारी करेंगी, यह तय नहीं है।

मप्र भाजपा के प्रदेश मंत्री ने कही ये बात

मध्य प्रदेश भाजपा के प्रदेश मंत्री रजनीश अग्रवाल के मुताबिक, भाजपा संगठन की विशेषता है कि जिस नेता या कार्यकर्ता को जो जिम्मेदारी मिलती है, उसे वह पूरी ताकत से निभाता है। उमा भारती बुंदेलखंड की हर चीज से अवगत हैं। मात्र पृथ्वीपुर सीट नहीं बल्कि पार्टी की हर सफलता में उनका योगदान है।

मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक संस्था के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया     |     जल्द चुनाव के लिए तैयार हैं तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष     |     शिवाजी मार्केट की दुकानें शिफ्ट करना फिर अटका      |     राष्ट्रपति का अभिभाषण, चुनावी भाषण और सरकार का प्रोपेगेंडा था : शशि थरूर     |     मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव     |     आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी     |     केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक     |     दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म ‘द क्रू’ में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ     |     मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार…     |     गोपालगंज।अन्तर जिला गिरोह के चार सरगना गिरफ्तार मोतिहारी के रहने वाले हैं लुटेरे.     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374