Breaking
दोपहर में सर्द हवाओं ने बढ़ाई ठंड दिन का पारा सामान्य से 2 डिग्री कम ​​​​पेटीएम वॉलेट बैंक एक्टिवेटेड थे सिम, गिरोह के सदस्यों की तलाश पानी भरने गई पीड़िता से की थी अभद्रता , 8 साल पहले दर्ज हुआ था मामला दिसंबर में बुध, शुक्र, सूर्य का गोचर, जानें कब है गीता जयंती, एकादशी, क्रिसमस वर्ष 2023 में संतान की रक्षा, सेहत, आयु और खुशी के लिए आ रहे हैं 6 व्रत न प्रिंसिपल आए और न शिक्षक; पढ़िए पूरा मामला अनुसूचित जाति के लिए 13% आरक्षण का विरोध,16 फीसदी नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी शीतकालीन सत्र पर फैसला; विधायी कार्यों की भी मिलेगी मंजूरी, ग्रीन टैक्स पर लगेगी मुहर मोहाली के विकास भवन में की जाएगी कार्यक्रम की शुरूआत हिमाचल में सभी सीटों पर होगी 'आप' की जमानत जब्त, केजरीवाल को बताया देश का झूठा इंसान

गोपालगंज।अवैध अस्पतालों के विरुद्ध तपश्या फाउंडेशन के सीएमडी ने खोला मोर्चा।

Whats App

प्रधान सचिव व डीएम को पत्र भेजकर जांच टीम गठित करने की मांग

तथाकथित माफियाओं द्वारा अवैध तरीके से जिले में संचालित हो रहा चार अस्पताल

गोपालगंज ।। स्वास्थ्य , शिक्षा व पर्यावरण के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था तपश्या फाउंडेशन के सीएमडी प्रदीप देव ने जिले में अवैध तरीके से चल रहे अस्पतालों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है । उन्होंने बिहार सरकार के प्रधान सचिव व गोपालगंज जिलाधिकारी को पत्र भेजकर जिले में एक तथाकथित माफिया द्वारा अलग अलग नाम से चलाए जा रहे फर्जी अस्पतालों के भंडाफोड़ भी किया है । श्री देव ने अपने पत्र के माध्यम से कहा कि जिले के एक स्वघोषित दबंग माफिया के द्वारा चार अस्पताल संचालित किए जा रहे हैं । जिनमें दरगाह रोड स्थित अपोलो हॉस्पिटल , सत्यम हॉस्पिटल , सदर अस्पताल के मुख्य द्वार पर माँ क्लिनिक , रूपक हॉस्पिटल बरौली प्रमुख है । उक्त चारों अस्पताल एक ही व्यक्ति के हैं । जो स्वास्थ्य विभाग को मैनेज कर गरीब मरीजों का दोहन कर रहा है । श्री देव ने कहा कि उक्त सभी अस्पतालों में ईलाज के नाम पर मरीजों का दोहन किया जाता है । वहीं फर्जी डिग्रीधारी चिकित्सकों से ऑपेरशन आदि करवाकर जच्चा-बच्चा व अन्य मरीजों की जान से खिलवाड़ किया जाता है । गरीब लोग अप्रिय घटनाओं के बाद भी दबंग व्यक्ति के डर से मुंह नहीं खोलते हैं । अप्रिय घटनाओं के बाद प्रशासन को मैनेज करने का खेल शुरू हो जाता है । वहीं उक्त सभी अस्पताल भारत सरकार के क्लिनिकल इस्टैब्लिशमेंट एक्ट 2010 के किसी भी मानक को पूरा नहीं करते हैं ।
दरगाह रोड में चल रहे अपोलो हॉस्पिटल मल्टी स्पेशलिटी एंड ट्रामा सेंटर की पर्ची पर छह डॉक्टरों के नाम अंकित हैं लेकिन उनकी योग्यता व सम्बंधित विश्वविद्यालय से प्राप्त डिग्री के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है । अस्पताल का पंजीकरण संख्या भी दर्ज नहीं है ।
उनका आरोप है कि जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की सांठ गांठ से स्वस्घोषित माफिया जिले में अवैध अस्पतालों के कारोबार कर गरीब मरीजों के पैसे लूट रहा है । इस पूरे मामले पर उन्होंने एक जांच कमिटी गठित कर उक्त अस्पतालों के जांच की मांग किया है ।

दोपहर में सर्द हवाओं ने बढ़ाई ठंड दिन का पारा सामान्य से 2 डिग्री कम     |     ​​​​पेटीएम वॉलेट बैंक एक्टिवेटेड थे सिम, गिरोह के सदस्यों की तलाश     |     पानी भरने गई पीड़िता से की थी अभद्रता , 8 साल पहले दर्ज हुआ था मामला     |     दिसंबर में बुध, शुक्र, सूर्य का गोचर, जानें कब है गीता जयंती, एकादशी, क्रिसमस     |     वर्ष 2023 में संतान की रक्षा, सेहत, आयु और खुशी के लिए आ रहे हैं 6 व्रत     |     न प्रिंसिपल आए और न शिक्षक; पढ़िए पूरा मामला     |     अनुसूचित जाति के लिए 13% आरक्षण का विरोध,16 फीसदी नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी     |     शीतकालीन सत्र पर फैसला; विधायी कार्यों की भी मिलेगी मंजूरी, ग्रीन टैक्स पर लगेगी मुहर     |     मोहाली के विकास भवन में की जाएगी कार्यक्रम की शुरूआत     |     हिमाचल में सभी सीटों पर होगी ‘आप’ की जमानत जब्त, केजरीवाल को बताया देश का झूठा इंसान     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374