Breaking
अखिल भारतीय में इंदौर से 2, जबलपुर-भोपाल से एक-एक; प्रदेश पुरस्कार में भी इंदौर-भोपाल आगे समस्तीपुर में भीषण सड़क हादसा, तेज रफ्तार बोलरों ने 50 को रौंदा, 5 की हालत गंभीर... राहुल गांधी ने कहा, अब भारत जोड़ो यात्रा कांग्रेस की नहीं रही, सभी इसमें जुड़ रहे हैं लाठी से किए ताबड़तोड़ वार, अस्पताल में हुई मौत; आरोपी बोला- बर्दाश्त नहीं हुआ पंजाब सरकार ने दी पूर्व मंत्री भारत भूषण आशु पर केस चलाने की अनुमति पानीपत में कोर्ट की तीसरी मंजिल से गिरकर वकील की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत बोले- खुदकुशी हराम है इसलिए जिंदा हूं; वो मुझे एड़ियां रगड़-रगड़कर मारना चाहते हैं रणवीर सिंह की फिल्म "सर्कस" का टीजर रिलीज.. Mokshda Ekadashi: इस दिन रखा जाएगा मोक्षदा एकादशी का व्रत, इस विधि से करें पूजा तो होगी शुभ फल की प्... Malaika Arora संग कैसा है अरबाज खान की गर्लफ्रेंड Georgia Andriani का रिश्ता?

26/11 के मुंबई हमले को कभी नहीं भूल सकता है भारत, आज भी ताजा है लोगों के दिलों में कसाब का चेहरा

Whats App

नई दिल्ली। 26/11 भारत के इतिहास का वो दिन है जिसको कभी भुलाया नहीं जा सकता है। इसी दिन अजमल कसाब समेत लश्‍कर के दस आतंकियों ने मुंबई में खूनी खेल को अंजाम दिया था। कसाब इस हमले का एकमात्र आतंकी था, जिसको जिंदा पकड़ा गया था। गुलाम कश्‍मीर के फरीदकोट का रहने वाले कसाब को 3 मई 2010 को 80 मामलों में दोषी ठहराया गया था। उसके खिलाफ भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ने हमला करने और बेगुनाहों का खून बहाने का दोषी ठहराया गया था।

कोर्ट ने 6 मई 2010 को उसे फांसी की सजा सुनाई थी। उसको सजा दिलवाने में एक बच्‍ची, जो हमले के दौरान मंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मीनस पर मौजूद थी, ने अहम भूमिका निभाई थी। उसने कोर्ट में कसाब को पहचाना था।पूरी दुनिया में एके-47 लिए किसाब की फोटो सुर्खियां बनी थी। हालांकि इसके बावजूद पाकिस्‍तान ने ये मानने से इनकार कर दिया था कि इस हमले में उसका कोई हाथ है। अजमल कसाब 21 नवंबर 2012 में पुणे की यरवडा जेल में फांसी दे दी गई और वहीं पर दफना भी दिया गया था।

लश्‍कर ए तैयबा ने मुंबई हमले में शामिल सभी आतंकियों को न सिर्फ ट्रेनिंग दी थी बल्कि पैसा भी दिया था। ये लोग हमले के दौरान लगातार अपने आकाओं के संपर्क में भी थे। मुंबई की हर वक्‍त दौड़ती-भागती जिंदगी पर इस हमले ने ब्रैक लगा दिया था। हर तरफ चीख-पुकार थी और दहला देने वाली खामोशी थी। हमले से बचने के लिए दौड़ते भागते लोगों के चेहरे पर दहशत थी। इस हमले में देश ने अपने कई बहादुर सिपाहियों को खो दिया था।

Whats App

अखिल भारतीय में इंदौर से 2, जबलपुर-भोपाल से एक-एक; प्रदेश पुरस्कार में भी इंदौर-भोपाल आगे     |     समस्तीपुर में भीषण सड़क हादसा, तेज रफ्तार बोलरों ने 50 को रौंदा, 5 की हालत गंभीर…     |     राहुल गांधी ने कहा, अब भारत जोड़ो यात्रा कांग्रेस की नहीं रही, सभी इसमें जुड़ रहे हैं     |     लाठी से किए ताबड़तोड़ वार, अस्पताल में हुई मौत; आरोपी बोला- बर्दाश्त नहीं हुआ     |     पंजाब सरकार ने दी पूर्व मंत्री भारत भूषण आशु पर केस चलाने की अनुमति     |     पानीपत में कोर्ट की तीसरी मंजिल से गिरकर वकील की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत     |     बोले- खुदकुशी हराम है इसलिए जिंदा हूं; वो मुझे एड़ियां रगड़-रगड़कर मारना चाहते हैं     |     रणवीर सिंह की फिल्म “सर्कस” का टीजर रिलीज..     |     Mokshda Ekadashi: इस दिन रखा जाएगा मोक्षदा एकादशी का व्रत, इस विधि से करें पूजा तो होगी शुभ फल की प्राप्ति     |     Malaika Arora संग कैसा है अरबाज खान की गर्लफ्रेंड Georgia Andriani का रिश्ता?     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374