Breaking
Mokshda Ekadashi: इस दिन रखा जाएगा मोक्षदा एकादशी का व्रत, इस विधि से करें पूजा तो होगी शुभ फल की प्... Malaika Arora संग कैसा है अरबाज खान की गर्लफ्रेंड Georgia Andriani का रिश्ता? घर पर अकेली थी लड़की, पानी पीने के बहाने घुसा पड़ोसी; जान से मारने की दी धमकी देकर भागा लाइटिंग व डीजे वाले 2 लोगों ने शादी समारोह से 7 साल की बच्ची का अपहरण कर किया गैंगरेप  माता वैष्णों के दरबार में माथा टेका; जम्मू-कश्मीर से IT क्षेत्र में सहयोग का किया वादा चाचा ने मारकर जमीन में गाड़ दिया; खेलने निकला था, फिर लौटा ही नहीं CM मनोहर लाल का दावा- मेडिकल विद्यार्थियों की हड़ताल जल्द होगी खत्म 460 मरीजों की ने आखों की कराई जांच,165 मरीजों का होगा मोतियाबिंद ऑपरेशन गहलोत से नहीं संभल रही सरकार, राजस्थान में मोदी के चेहरे पर लड़ेंगे चुनाव आठवें हफ्ते के एविक्शन में मेकर्स ने पलटा खेल, घरवाले भी हैरान रह गए

सामूहिक दुष्कर्म मामले में पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति दोषी करार, पीड़िता के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज करने का आदेश

Whats App

लखनऊ। सामुहिक दुष्कर्म के मामले में पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को दोषी करार दिया गया है। गायत्री के अलावा दो अन्य अभियुक्त आशीष शुक्ला व अशोक तिवारी को भी एमपी-एमएलए की विशेष अदालत ने दोषी करार दिया है। इस बहुचर्चित मामले में गायत्री समेत तीनों अभियुक्तों को आइपीसी की धारा 376 डी व पाक्सो एक्ट की धारा 5जी/6 के तहत दोषी पाया गया है। इसमें आइपीसी की धारा के तहत 20 साल से उम्र कैद, जबकि पाक्सो की उक्त धारा के तहत मृत्यु दंड तक की सजा का भी प्रावधान है। विशेष जज पवन कुमार राय ने तीनों अभियुक्तों की सजा के बिंदू पर सुनवाई के लिए 12 नवंबर की तारीख तय की है। विशेष जज ने इस मामले के चार अन्य अभियुक्त गायत्री के गनर रहे चंद्रपाल, पीआरओ रुपेश्वर उर्फ रुपेश व एक वरिष्ठ पीसीएस अधिकारी के बेटे विकास वर्मा तथा अमरेंद्र सिंह उर्फ पिंटू को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया है।

पीड़िता व गवाह के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का भी आदेशः विशेष जज ने इस मामले में झूठी गवाही देने व सबूत छिपाने के मसले का भी संज्ञान लिया है। उन्होंने इस मामले की एफआइआर दर्ज कराने वाली पीड़िता के साथ ही गवाह रामसिंह राजपूत व अंशू गौड़ के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर विवेचना का आदेश पुलिस आयुक्त को दिया है। बुधवार को अदालत के समक्ष गायत्री समेत सभी अभियुक्त जेल से उपस्थित थे।

सातों अभियुक्तों पर तय हुआ था आरोपः 18 जुलाई, 2017 को पाक्सो की विशेष अदालत ने इस मामले में गायत्री समेत सभी सात अभियुक्त विकास, आशीष, अशोक, अमरेंद्र, चंद्रपाल व रुपेश्वर के खिलाफ आइपीसी की धारा 376 डी, 354 ए(1), 509, 504 व 506 में आरोप तय किया था। साथ ही गायत्री, विकास, आशीष व अशोक के खिलाफ पाक्सो एक्ट की धारा 5जी/6 के तहत भी आरोप तय किया था। इसके बाद इस मामले की सुनवाई प्रयागराज में एमपी-एमएलए की विशेष अदालत में होने लगी। 13 दिसंबर, 2019 को इस मामले की सुनवाई लखनऊ में एमपी-एमएलए की विशेष अदालत को स्थानांतरित कर दी गई थी। तीन जून, 2017 को इस मामले के विवेचक व सीओ चौक राधेश्याम राय ने गायत्री समेत सभी अभियुक्तों के खिलाफ 824 पन्ने का आरोप पत्र दाखिल किया था।

Whats App

ये है मामलाः 18 फरवरी, 2017 को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गायत्री प्रसाद प्रजापति व अन्य छह अभियुक्तों के खिलाफ थाना गौतमपल्ली में सामुहिक दुष्कर्म, जानमाल की धमकी व पाक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था। सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश पीडि़ता की अर्जी पर दिया था। पीडि़ता ने गायत्री प्रजापति व उनके साथियों पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए अपनी नाबालिग बेटी के साथ भी जबरन शारीरिक संबंध बनाने का आरोप लगाया था। विवेचना के दौरान गायत्री समेत सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया था।

Mokshda Ekadashi: इस दिन रखा जाएगा मोक्षदा एकादशी का व्रत, इस विधि से करें पूजा तो होगी शुभ फल की प्राप्ति     |     Malaika Arora संग कैसा है अरबाज खान की गर्लफ्रेंड Georgia Andriani का रिश्ता?     |     घर पर अकेली थी लड़की, पानी पीने के बहाने घुसा पड़ोसी; जान से मारने की दी धमकी देकर भागा     |     लाइटिंग व डीजे वाले 2 लोगों ने शादी समारोह से 7 साल की बच्ची का अपहरण कर किया गैंगरेप      |     माता वैष्णों के दरबार में माथा टेका; जम्मू-कश्मीर से IT क्षेत्र में सहयोग का किया वादा     |     चाचा ने मारकर जमीन में गाड़ दिया; खेलने निकला था, फिर लौटा ही नहीं     |     CM मनोहर लाल का दावा- मेडिकल विद्यार्थियों की हड़ताल जल्द होगी खत्म     |     460 मरीजों की ने आखों की कराई जांच,165 मरीजों का होगा मोतियाबिंद ऑपरेशन     |     गहलोत से नहीं संभल रही सरकार, राजस्थान में मोदी के चेहरे पर लड़ेंगे चुनाव     |     आठवें हफ्ते के एविक्शन में मेकर्स ने पलटा खेल, घरवाले भी हैरान रह गए     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374