Breaking
शिक्षा व्‍यवस्‍था पर कल शिमला में जनता से संवाद करेंगे मनीष सिसोदिया सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दलित महिला के हाथों बेर खाए थे,उसी गांव में रोकी दलित की बारात खंडवा में बोहरा मस्जिद के पास हाकिमी टेडर्स दूकान में लगी भीषण आग महंगे होते कर्ज के बीच क्‍या दूसरे बैंक में लोन ट्रांसफर कराने से मिलेगा फायदा, क्‍या कहते हैं एक्‍स... बुद्ध पूर्णिमा पर लुंबिनी पहुंचे पीएम मोदी बाजार की अच्छी शुरुआत, सेंसेक्स 200 अंक ऊपर, निफ्टी 15800 के पार IRCTC दे रहा वैष्णों देवी, श्रीनगर समेत कई खूबसूरत जगह घूमने का मौका, 8 दिन का है ट्रिप, चेक करें डि... बॉलीवुड एक्टर इमरान खान पत्नी अवंतिका मलिक से लेंगे तलाक रोहित शेट्‌टी की वेब सीरीज की शूटिंग के दौरान घायल हुए सिद्धार्थ मल्होत्रा केरल में जोरदार प्री-मॉनसून बारिश उत्तर भारत में भी जल्द मिलेगी गर्मी से राहत

मोदी सरकार ने वापस लिए तीनों कृषि कानून, लालू ने किसानों को दी बधाई, बोले- पहलवानी से नहीं चलता देश

Whats App

पटना। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को गुरु पर्व और कार्तिक पूर्णिमा के दिन देश को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने तीनों कृषि कानून को वापस लेने का एलान किया। केंद्रीय कृषि कानूनों की वापसी से उत्साहित राजद ने अपने अन्य मुद्दों पर आगे की लड़ाई जारी रखेगा। आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद (Lalu Prasad Yadav) और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने बयान जारी कर कहा है कि बेरोजगारी, महंगाई और निजीकरण के खिलाफ उनका आंदोलन जारी रहेगा।

पहलवानी से नहीं चलता है देश- लालू यादव

कृषि कानूनों की वापसी को लालू ने किसानों, गरीबों और मेहनतकश लोगों की जीत बताया और शांतिपूर्ण व लोकतांत्रिक किसान सत्याग्रह के सफल होने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र, संविधान और देश की जीत है। लालू ने ट्वीट किया है कि, पूंजीपरस्त अहंकारी सरकार और उसके मंत्रियों ने किसानों को आतंकी, खालिस्तानी, आढ़तिए, मुट्ठीभर लोग, देशद्रोही इत्यादि कहकर भारत की एकता और सौहार्द को खंड-खंड कर श्रमशील आबादी में अविश्वास पैदा किया। उन्होंने आगे केन्द्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि, देश संयम, शालीनता, विवेकपूर्ण, लोकतांत्रिक और समावेशी निर्णयों से चलता है न कि पहलवानी से।

Whats App

jagran

‘बेरोजगारी, महंगाई, निजीकरण के खिलाफ जंग जारी रहेगी’

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी मोदी सरकार के इस फैसले प्रतिक्रिया दी है। तेजस्वी ने इसे किसानों की जीत और पूंजीपतियों, राज्य-केंद्र सरकार की हार बताया। तेजस्वी ने ट्वीट कर लिखा है कि, किसानों ने पूंजीपरस्त सरकार को झुकने पर मजबूर किया। बेरोजगारी, महंगाई, निजीकरण के खिलाफ जंग जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि यूपी, उत्तराखंड एवं पंजाब में हार के डर से तीनों कृषि क़ानूनों को वापस लेना पड़ा। उपचुनाव हारने पर भाजपा ने पेट्रोल-ड़ीजल पर दिखावटी ही सही लेकिन थोड़ा सा टैक्स कम किया।

jagran

लालू यादव के बड़े बेटे और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने इस तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने पर प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि आगे भी जनता के हितों के लिए हमारी लड़ाई जारी रहेगी।

jagran

Leave A Reply

Your email address will not be published.

शिक्षा व्‍यवस्‍था पर कल शिमला में जनता से संवाद करेंगे मनीष सिसोदिया     |     सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दलित महिला के हाथों बेर खाए थे,उसी गांव में रोकी दलित की बारात     |     खंडवा में बोहरा मस्जिद के पास हाकिमी टेडर्स दूकान में लगी भीषण आग     |     महंगे होते कर्ज के बीच क्‍या दूसरे बैंक में लोन ट्रांसफर कराने से मिलेगा फायदा, क्‍या कहते हैं एक्‍सपर्ट     |     बुद्ध पूर्णिमा पर लुंबिनी पहुंचे पीएम मोदी     |     बाजार की अच्छी शुरुआत, सेंसेक्स 200 अंक ऊपर, निफ्टी 15800 के पार     |     IRCTC दे रहा वैष्णों देवी, श्रीनगर समेत कई खूबसूरत जगह घूमने का मौका, 8 दिन का है ट्रिप, चेक करें डिटेल्स     |     बॉलीवुड एक्टर इमरान खान पत्नी अवंतिका मलिक से लेंगे तलाक     |     रोहित शेट्‌टी की वेब सीरीज की शूटिंग के दौरान घायल हुए सिद्धार्थ मल्होत्रा     |     केरल में जोरदार प्री-मॉनसून बारिश उत्तर भारत में भी जल्द मिलेगी गर्मी से राहत     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374