Breaking
महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका गुजरात की ऐतिहासिक जीत पीएम मोदी की लोकप्रियता के कारण : केंद्रीय रक्षा मंत्री  भोपाल में 2500 स्वयंसेवक एक साथ शारीरिक प्रदर्शन करेंगे सीएम योगी देंगे 387.59 करोड़ की सौगात श्रीमद् भागवत कथा के समापन पर भंडारा आयोजित   निराशा भरा रहा है टीम इंडिया का साल 2022 बैंक ऑफ महाराष्ट्र में निकली बंपर वैकेंसी, 45 साल तक की उम्मीदवार कर सकेंगे आवेदन जहां पिता की हुई नियुक्ति, उसी यूनिट में तैनात हुए थे बिपिन रावत, जानें उनके शौर्य की गाथा अब आंगनबाड़ी में मिलेगा अक्षरज्ञान

आतंकियों के सीक्रेट कोड को एडीजी ने विस्तार से बताया-गोश्त पकाओ दोस्त आएंगे।

Whats App

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में आतंकी हमला करने की रणनीति बनाने वाले अकलायदा के दो संदिग्ध आतंकियों ने यूपी एटीएस के सामने बड़ा खुलासा किया है . पूछताछ के दौरान पता चला है कि एक कोड के जरिए आतंकियों तक संदेश पहुंचाने का काम हो रहा था . उस कोड के आधार पर ही बकरीद के दिन बड़े हमले की साजिश थी . उस बारे में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने विस्तार से बताया है

आतंकियों का सीक्रेट कोड पता चला

उन्होंने जानकारी दी है कि यूपी में आतंकी घटना को अंजाम देने के लिए बॉर्डर पार से आतंकी आने वाले थे. आतंकियों ने अपना खुद का एक कोड बनाया था जिसके जरिए हर जरूरी संदेश दिया जा रहा है. एडीजी ने जानकारी दी कि आतंकियों द्वारा “गोश्त पकाओ दोस्त आएंगे” कोड का इस्तेमाल किया जा रहा था. इस कोड के जरिए ही संदेश दूसरे आतंकियों तक पहुंचाया जा रहा था और फिर बकरीद पर बड़े हमले की तैयारी थी. लेकिन क्योंकि एटीएस ने समय रहते बड़ी कार्रवाई की, इसलिए आतंकियों के नापाक मंसूबे कामयाब नहीं हो पाए.

Whats App

फोन के जरिए बड़े खुलासे

गिरफ्तार किए गए आतंकियों के फोन की भी जांच की गई है. उनकी कॉल डिटेल्स निकाली गई है जिससे कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. बताया गया है कि मिन्हाज नाम के आतंकी ने 8 और 9 जुलाई को कानपुर में सबसे ज्यादा कॉल की हैं. वहीं दो बार भी नेपाल कॉल की गई हैं. इस वजह से एटीएस की अलग-अलग टीमें दिल्ली, मेरठ, हरदोई, बरेली, कानपुर में अपनी जांच तेज कर रही हैं. वहीं उन आतंकियों के फोन से कई इलाकों के फोटो और वीडियो भी बरामद हुए हैं. इसमें मंदिरों में हजारों की भीड़, पार्किंग स्थल की फोटो शामिल है. बताया गया है कि भीड़-भाड़ वाले इलाकों में हमला करने की तैयारी थी. जांच एजेंसियां उस बाइक को भी ढूंढ रही हैं जिसके जरिए ये दोनों आतंकी लखनऊ के कई इलाकों की रेकी किया करते थे.

इसके अलावा आतंकियों के पास से एक काली डायरी भी बरामद हुई है जिसके हर पांचवें पन्ने पर अल्लाह लिखा हुआ है और सातवें पन्ने पर ‘कौम खतरे में’ लिखा हुआ 

महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे     |     टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका     |     गुजरात की ऐतिहासिक जीत पीएम मोदी की लोकप्रियता के कारण : केंद्रीय रक्षा मंत्री      |     भोपाल में 2500 स्वयंसेवक एक साथ शारीरिक प्रदर्शन करेंगे     |     सीएम योगी देंगे 387.59 करोड़ की सौगात     |     श्रीमद् भागवत कथा के समापन पर भंडारा आयोजित       |     निराशा भरा रहा है टीम इंडिया का साल 2022     |     बैंक ऑफ महाराष्ट्र में निकली बंपर वैकेंसी, 45 साल तक की उम्मीदवार कर सकेंगे आवेदन     |     जहां पिता की हुई नियुक्ति, उसी यूनिट में तैनात हुए थे बिपिन रावत, जानें उनके शौर्य की गाथा     |     अब आंगनबाड़ी में मिलेगा अक्षरज्ञान     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374