New Year
Breaking
गोपालगंज।अन्तर जिला गिरोह के चार सरगना गिरफ्तार मोतिहारी के रहने वाले हैं लुटेरे. मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक संस्था के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया जल्द चुनाव के लिए तैयार हैं तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष शिवाजी मार्केट की दुकानें शिफ्ट करना फिर अटका  राष्ट्रपति का अभिभाषण, चुनावी भाषण और सरकार का प्रोपेगेंडा था : शशि थरूर मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म 'द क्रू' में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार...

#सिंहवाहिनी में चला ऋतु जयसवाल का जादू पति पूर्व #आईएएस अधिकारी अरुण कुमार बने #मुखिया…..

Whats App

यह बिहार के लिए बड़ी खबर है कि बिहार के चर्चित मुखिया रही ऋतु जयसवाल के पति जिन्होंने समाज सेवा के लिए आईएएस की नौकरी छोड़ दी थी वही अरुण कुमार इस बार सिंहवाहिनी से मुखिया का चुनाव जीत गए आईएस से मुखिया तक का सफर जो लोग समाज सेवा करते हैं समझ सकते हैं रितु जायसवाल परिहार से इस बार राजद के टिकट पर चुनाव लड़ी थी कहा जाता है कि हर पुरुष के सफलता में नारी का हाथ होता है और ऋतु जयसवाल की सफलता में उनकी प्रसिद्ध मे अगर किसी का सबसे बड़ा हाथ है तो वह उनके पति अरुण कुमार का जो इस बार पत्नी के द्वारा पंचायत का चुनाव नहीं लगने पर खुद मुखिया के चुनाव में उतरे थे और पंचायत के लोगों ने उन्हें प्रचंड बहुमत से मुखिया भी बनाया है। हम आपको बताने जा रहे हैं कि एक आईएएस अधिकारी मुखिया क्यों बना।देश के सर्वोच्च प्रशासनिक सेवा के अधिकारी बनने के बाद हर इंसान की चाहत होती है कि उसका जीवन बेहतर बने पर बिहार का एक युवा आईएएस की नौकरी छोड़ बिहार के ग्रामीण परिवेश के छात्रों को यूपीएससी और बीपीएससी की परीक्षाओं के लिए तैयार करवा रहा है.बिहार के सीतामढ़ी में जन्मे श्री अरुण कुमार ने सीतामढ़ी के सुदूर गाँव नरकटिया में रह कर सरकारी विद्यालय से 10वीं की परीक्षा पास की। अंग्रेज़ी मीडियम बिहार बोर्ड से पढ़ने वाले लगभग सभी बच्चों केलिए आगे जा कर एक विकराल समस्या बन जाती है। वैसी हीं समस्याओं का अरुण जी को भी सामना करना पड़ा। पर उसी में संघर्ष करते हुए उन्होंने इस रुकावट पर विजय पाई और रांची से आगे की पढ़ाई करने के बाद उन्होंने 1995 में UPSC की परीक्षा पास की।अपने 20 साल की लंबी सेवा में उन्होंने रक्षा मंत्रालय, संघ लोक सेवा आयोग (UPSC), डिपार्टमेंट ऑफ पर्सोनल एंड ट्रेनिंग (DOPT) में सेवा देने के साथ-साथ छात्रों केलिए UPSC एवं अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता हासिल करने हेतु एक बेहद ही अलग तरह की पढ़ाने की तकनीक का इजात किया। उस दौरान जो बच्चे उनके सम्पर्क में आये और जिन्होंने अरुण जी के मार्गदर्शन में उनकी पद्धति के हिसाब से पढ़ाई की उन सभी बच्चों ने UPSC में बेहतर रिजल्ट दिया।इस सफलता से प्रोत्साहित हो कर उन्होंने सोंचा की उनके राज्य बिहार से बच्चे दिल्ली जैसे बड़े शहरों में जा कर धक्के खाते हैं और काफी ज्यादा रुपये खर्च करने के बाद भी सफलता नहीं मिलती। कई मध्यम वर्गीय परिवार से आने वाले बच्चे तो असफलता से निराश हो कर घर के पूरे पैसे खर्च करने के बाद आत्महत्या तक कर लेते हैं। इन विचारों ने उन्हें अभिप्रेरित किया कि क्यों न बिहार वापस जा कर वहाँ पढ़ाई के प्रति ललक रखने वाले बच्चों को अलग पद्धति से तैयारी करवा कर दिल्ली में धक्के खाने आने से रोका जाए।और फिर 20 साल सेवा देने के बाद अंत मे केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC), नई दिल्ली जहाँ लगभग सभी IAS अफसरों का पहुँचना सपना होता है, से आयुक्त के पद से उन्होंने स्वैक्षिक सेवानिवृति ले ली और वापस बिहार आ कर बच्चों को दिल्ली के मुकाबले काफी कम पैसे में UPSC की तैयारी करवा रहे।इस पोस्ट के माध्यम से हम बिहार के तमाम वैसे छात्र जो UPSC या अन्य सरकारी प्रतियोगी परीक्षाओं को उत्तीर्ण करना अपना लक्ष्य मानते हैं, को ऐसे मौके से अवगत कराना चाहते हैं और हमारे पेज से जुड़े लोगों को एक ऐसे प्रेरक व्यक्ति के विषय में बताना भी था।
©अनूप

मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक संस्था के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया     |     जल्द चुनाव के लिए तैयार हैं तेलंगाना बीजेपी अध्यक्ष     |     शिवाजी मार्केट की दुकानें शिफ्ट करना फिर अटका      |     राष्ट्रपति का अभिभाषण, चुनावी भाषण और सरकार का प्रोपेगेंडा था : शशि थरूर     |     मौसम में होने वाला है बड़ा बदलाव     |     आंध्र प्रदेश के अमारा राजा प्लांट में आग लगी     |     केंद्र सरकार ने बजट सत्र से पहले बुलाई सर्वदलीय बैठक     |     दिलजीत दोसांझ आएगे नजर फिल्म ‘द क्रू’ में, तब्बू, करीना और कृति सनोन के साथ     |     मुंबई एयरपोर्ट पर 28.10 करोड़ की कोकीन के साथ तस्कर गिरफ्तार…     |     गोपालगंज।अन्तर जिला गिरोह के चार सरगना गिरफ्तार मोतिहारी के रहने वाले हैं लुटेरे.     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374