Breaking
बांधी 75 फुट की हरी-भरी राखी, बहनें बोली - पेड़ हमारे हरे-भरे भैया भालू नें कई लोगों को किया घायल घर बैठे ही लोगों को मिला 12 लाख स्मार्ट कार्ड आधारित पंजीयन प्रमाण-पत्र तथा ड्राइविंग लायसेंस मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सामुदायिक वन संसाधन अधिकार जागरूकता अभियान का किया शुभारंभ मुख्यालय सहित विभिन्न नगरों में निकाली रैली; विद्यार्थी, शिक्षकों एवं पुलिस कर्मी रहे शामिल नीतीश आठवीं बार बने सीएम अपर कलेक्टर ने जारी किया आदेश, हितग्राही को नहीं दे रहे थे योजना का लाभ सीहोर में जिला संस्कार मंच ने ग्रामीणों को 100 से अधिक तिरंगे निशुल्क बांटे महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश Skoda Enyaq iV की शुरू हुई टेस्टिंग

नीतीश ने खुले में नमाज पर प्रतिबंध की मांग को नहीं दी तवज्जो, कहा- इस पर कोई टिप्पणी नहीं.

Whats App

पटनाः बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को राज्य के भाजपा नेताओं की खुली जगहों पर ‘नमाज’ पर प्रतिबंध लगाने की मांग से जुड़े सवाल को टालते हुए कहा कि ‘सरकार सभी के लिए है।’ अपने साप्ताहिक कार्यक्रम ‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री’ के बाद पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि वह धार्मिक गतिविधियों से जुड़े मामलों पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहेंगे।

नीतीश कुमार ने कहा, ‘‘मैं ऐसी बातों पर ध्यान नहीं देता। मैं पूजा करने या नमाज अदा करने जैसे मामलों पर टिप्पणी नहीं करना चाहता। यह सरकार सबके लिए है। मैं केवल इतना कह सकता हूं कि कोविड-19 महामारी के दौरान (एक अवधि के लिए) धार्मिक गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।” उन्होंने कहा, ‘‘इन दिनों, मैं देख रहा हूं कि लोग विवाह समारोहों और बारात के दौरान सामाजिक दूरी के नियमों का पालन नहीं करते हैं। लोगों को जिम्मेदाराना व्यवहार करना चाहिए।”

दरअसल, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक हरि भूषण ठाकुर बचोल ने शनिवार को बिहार में खुले में ‘नमाज’ की प्रथा पर रोक लगाने की मांग की थी। पंचायती राज मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता सम्राट चौधरी ने बचोल की मांग को लेकर उनका समर्थन किया है। ओमीक्रोन स्वरूप से खतरे के मद्देनजर कोविड-19 की वर्तमान स्थिति के बारे में कुमार ने कहा कि संकट को रोकने के लिए सभी संभव उपाय किए जा रहे हैं।

Whats App

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि पिछले दो दिनों में पटना में संक्रमण के मामलों में वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा, ‘‘राज्य में अब तक एक भी व्यक्ति ओमीक्रोन स्वरूप से संक्रमित नहीं हुआ है। पटना में इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आईजीआईएमएस) को जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशाला शुरू करने के लिए आवश्यक अनुमति मिल गई है। बाहर से राज्य में आने वाले लोगों की जांच की जा रही है। संक्रमित पाए जाने पर नमूने जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजे जा रहे हैं।”

बांधी 75 फुट की हरी-भरी राखी, बहनें बोली – पेड़ हमारे हरे-भरे भैया     |     भालू नें कई लोगों को किया घायल     |     घर बैठे ही लोगों को मिला 12 लाख स्मार्ट कार्ड आधारित पंजीयन प्रमाण-पत्र तथा ड्राइविंग लायसेंस     |     मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सामुदायिक वन संसाधन अधिकार जागरूकता अभियान का किया शुभारंभ     |     मुख्यालय सहित विभिन्न नगरों में निकाली रैली; विद्यार्थी, शिक्षकों एवं पुलिस कर्मी रहे शामिल     |     नीतीश आठवीं बार बने सीएम     |     अपर कलेक्टर ने जारी किया आदेश, हितग्राही को नहीं दे रहे थे योजना का लाभ     |     सीहोर में जिला संस्कार मंच ने ग्रामीणों को 100 से अधिक तिरंगे निशुल्क बांटे     |     महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी बारिश     |     Skoda Enyaq iV की शुरू हुई टेस्टिंग     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374