Breaking
महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका गुजरात की ऐतिहासिक जीत पीएम मोदी की लोकप्रियता के कारण : केंद्रीय रक्षा मंत्री  भोपाल में 2500 स्वयंसेवक एक साथ शारीरिक प्रदर्शन करेंगे सीएम योगी देंगे 387.59 करोड़ की सौगात श्रीमद् भागवत कथा के समापन पर भंडारा आयोजित   निराशा भरा रहा है टीम इंडिया का साल 2022 बैंक ऑफ महाराष्ट्र में निकली बंपर वैकेंसी, 45 साल तक की उम्मीदवार कर सकेंगे आवेदन जहां पिता की हुई नियुक्ति, उसी यूनिट में तैनात हुए थे बिपिन रावत, जानें उनके शौर्य की गाथा अब आंगनबाड़ी में मिलेगा अक्षरज्ञान

नए वैरिएंट ‘ओमीक्रॉन’ से दहशत में दुनिया, कई देशों ने दक्षिण अफ्रीका की यात्रा पर लगाई रोक

Whats App

वाशिंगटन। घातक कोरोना वायरस के नए वैरिएंट के सामने आने के बाद दुनिया में दहशत फैल गई है। दुनिया के कई देशों ने अफ्रीकी देशों के लिए अपनी सीमाएं बंद करने की शुरुआत कर दी है। यूरोपीयन यूनियन के देशों ने सात अफ्रीकी देशों से यात्रा को निरस्त करने का आग्रह किया है। इस क्रम में कनाडा और अमेरिका ने भी सात दक्षिण अफ्रीकी देशों पर यात्रा के लिए रोक लगा दी है।

ब्रिटेन, इटली और इजरायल समेत कई देशों ने दक्षिण अफ्रीका, लेसेटो, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे, मोजांबिक, नाबिया और इस्वातिनी के लिए उड़ानें बंद कर दी हैं। नीदरलैंड समेत और कई देश इसी तरह के उपाय करने पर विचार कर रहे हैं। जर्मनी भी इन देशों के लिए उड़ानों पर पाबंदी लगा सकता है

सख्त हुआ जापान, कहा- दस दिनों के लिए किया जाएगा क्वारंटाइन

Whats App

जापान ने कहा है कि शुक्रवार के बाद से इन देशों से आने वाले लोगों को सरकारी क्वारंटाइन सेंटरों में 10 दिन अनिवार्य रूप से रहना होगा। इस दौरान उनकी तीन बार कोरोना जांच भी की जाएगी। दक्षिण अफ्रीका से आने वाले यात्रियों में बोस्तवाना और हांगकांग में यह वैरिएंट पाया गया है।

वैक्सीन ले चुका शख्स भी संक्रमित 

इजरायल में भी मलावी से आए एक व्यक्ति को इससे संक्रमित पाया गया है। इस व्यक्ति को कोरोना रोधी वैक्सीन की दोनों डोज भी लगाई जा चुकी थी। गंभीर होते हालात को देखते हुए और भी कई देशों में इस वैरिएंट को आने से रोकने के लिए कई तरह के उपाय किए जा रहे हैं।

डेल्टा वैरिएंट से अधिक खतरनाक है नया वैरिएंट ओमीक्रोन

संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी WHO ने नए वैरिएंट को ‘ओमीक्रॉन’ नाम दिया है। इस घातक वैरिएंट को रोकने के लिए कई देशों ने सख्त कदम हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इस नए वैरिएंट को अत्यधिक संक्रामक वैरिएंट की श्रेणी में रखा है। साथ ही इसे ‘ओमीक्रॉन’ नाम भी दिया है।

महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे     |     टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका     |     गुजरात की ऐतिहासिक जीत पीएम मोदी की लोकप्रियता के कारण : केंद्रीय रक्षा मंत्री      |     भोपाल में 2500 स्वयंसेवक एक साथ शारीरिक प्रदर्शन करेंगे     |     सीएम योगी देंगे 387.59 करोड़ की सौगात     |     श्रीमद् भागवत कथा के समापन पर भंडारा आयोजित       |     निराशा भरा रहा है टीम इंडिया का साल 2022     |     बैंक ऑफ महाराष्ट्र में निकली बंपर वैकेंसी, 45 साल तक की उम्मीदवार कर सकेंगे आवेदन     |     जहां पिता की हुई नियुक्ति, उसी यूनिट में तैनात हुए थे बिपिन रावत, जानें उनके शौर्य की गाथा     |     अब आंगनबाड़ी में मिलेगा अक्षरज्ञान     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374