Breaking
इटावा में पंचनद के तट पर चंबल के वीरों को किया याद, जलाए गए 151 दीप क्या Prabhas के साथ रिलेशनशिप में हैं Kriti Sanon? वरुण धवन ने किया खुलासा इंडोनेशिया सरकार ने भूकंप पीड़ितों के लिए सैकड़ों घरों के पुनर्निर्माण की योजना बनाई गुजरात में बनेगी आप की सरकार भाजपा-कांग्रेस को लगेगा झटका : केजरीवाल का दावा आवास दिलाने के नाम पर धोखे से लिखवा लिया गरीब की जमीन गिरफ्तारी के लिए घर में घुसी पुलिस से घबरा कर आरोपी के बुजुर्ग पिता की मौत लोगों ने पुलिस को बंधक बन... फुटबॉल मैच के दौरान भिड़े खिलाड़ी,छह को मिला रेड कार्ड पुलिस ने दबिश देकर 13 टंकियों से 2500 ली. लहान नष्ट किया, 1 लाख कीमत की थी ग्रामीणों में आक्राश, बोले-जल्द ही मरम्मत नहीं होने पर होगा आंदोलन फिर से बदले जाएंगे पुराने 500 और 1000 के नोट! जानिए क्या है पूरा माजरा, सुप्रीम कोर्ट ने कही ये बात

जानें- अबु धाबी में किए गए हूथी विद्रोहियों के हमले के क्‍या हैं मायनें, क्षेत्र के दूसरे देशों पर क्‍या होगा असर

Whats App

निकोसिया, साइप्रस। कुछ दिन पहले हुए हूथी विद्रोहियों द्वारा अबू धाबी के आयल टैंकर पर हुए हमले ने सभी को हैरान कर दिया है। इसकी दो बड़ी वजह हैं। पहली वजह यमन से 2019 में यूएई द्वारा अपनी सारी सेना का हटाना है तो दूसरी वजह ये भी है कि यूएई ने खुद को पर्यटकों के लिए बेहद सुरक्षित करार दिया था। ऐसे में इस हमले ने कई तरह के सवाल खड़े कर दिए हैं। इस हमले में तीन लोगों की मौत हो गई थी। इस हमले के बाद यूएई ने हूथी विद्रोहियों के ठिकाने पर जबरदस्‍त हवाई हमले किए।

अबु धाबी पर किए गए हमले ने पूरे विश्‍व का ध्‍यान इस तरफ खींचा और पूरी विश्‍व बिरादरी ने इसकी कड़ी आलोचना भी की। कहा जा रहा है कि इस हूथी विद्रोहियों के इस हमले के गंभीर परिणाम भी देखने को मिल सकते हैं। इसका असर कहीं न कहीं यूएई और इस क्षेत्र के दूसरे देशों की नीतियों पर भी पड़ेगा। संयुक्‍त अरब अमीरात (यूएई) ने ये भी साफ कर दिया है कि वो हूथी विद्रोहियों पर उनकी ही जमीन पर और जबरदस्‍त हमले करेगा।

Whats App

शुक्रवार को ही सऊदी अरब के नेतृत्‍व वाले गठबंधन ने यमन के सदा शहर पर हमला किया था। डाक्‍टर्स विदाउट बार्डर के मुताबिक इस हमले में 82 लोगों की मौत हो गई और 266 घायल हुए थे। इसी दिन सऊदी और यूएई की गठबंधन सेनाओं ने अल हुदायदा स्थिति टेलिकम्‍यूनिकेशन बिल्डिंग पर हमला किया था। ये शहर यमन का चौथा बड़ा शहर है। इस हमले में 20 लोगों की मौत हो गई थी। माना जा रहा है कि हूथी विद्रोहियों को यूएई के खिलाफ हमला करना इस बात की चेतावनी है कि संयुक्‍त अरब अमीरात यमन के दूसरे स्‍थानीय मिलिशिया संगठनों को दिए जा रहे समर्थन पर फिर विचार करे और उनके ऊपर हमला न करे।

बता दें कि जनवरी में यूएई द्वारा समर्थित मिलिशिया संगठनों ने हूथी विद्रोहियों पर शबवा और मौरिन में जबरदस्‍त हमला किया था। इसके बाद यूएई ने कहा था कि वो क्षेत्र में तनाव को बढ़ाना नहीं चाहता है। यूएई ने ये भी कहा था‍ कि वो अब यमन के दूसरे मिलिशिया संगठनों को किसी तरह का समर्थन नहीं देगा।

इटावा में पंचनद के तट पर चंबल के वीरों को किया याद, जलाए गए 151 दीप     |     क्या Prabhas के साथ रिलेशनशिप में हैं Kriti Sanon? वरुण धवन ने किया खुलासा     |     इंडोनेशिया सरकार ने भूकंप पीड़ितों के लिए सैकड़ों घरों के पुनर्निर्माण की योजना बनाई     |     गुजरात में बनेगी आप की सरकार भाजपा-कांग्रेस को लगेगा झटका : केजरीवाल का दावा     |     आवास दिलाने के नाम पर धोखे से लिखवा लिया गरीब की जमीन     |     गिरफ्तारी के लिए घर में घुसी पुलिस से घबरा कर आरोपी के बुजुर्ग पिता की मौत लोगों ने पुलिस को बंधक बनाया      |     फुटबॉल मैच के दौरान भिड़े खिलाड़ी,छह को मिला रेड कार्ड     |     पुलिस ने दबिश देकर 13 टंकियों से 2500 ली. लहान नष्ट किया, 1 लाख कीमत की थी     |     ग्रामीणों में आक्राश, बोले-जल्द ही मरम्मत नहीं होने पर होगा आंदोलन     |     फिर से बदले जाएंगे पुराने 500 और 1000 के नोट! जानिए क्या है पूरा माजरा, सुप्रीम कोर्ट ने कही ये बात     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374