Breaking
राजधानी में बड़ी लूट की वारदात से हडकंप, कारोबारी से मारपीट कर 50 लाख की लूट मूर्तियां और कलश से लेकर शिवलिंग तक...तीन दिन का सर्वे पूरा वजुखाने में 12 फीट 8 इंच का शिवलिंग! भाजपा में चला मंथन का दौर, अलग निगम का अलग घोषणापत्र होगा जारी भारत माता की तस्वीर को जमीन पर रखकर अपमानित करने पर भड़के NSUI कार्यकर्ता, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन... सुप्रीम कोर्ट में शिवराज सरकार प्रस्तुत कर चुकी है, पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग की वार्डवार रिपोर्ट, मंगल... EPF अकाउंट से Withdrawal पर हो सकता है 15 लाख रुपए से ज्यादा का नुकसान, रिटायरमेंट पर लगेगा झटका! हार्ट अटैक, पर्वतीय बीमारी से अब तक 39 तीर्थयात्रियों की मौत MP में अब नीलगाय का शिकार: पुलिस ने 2 शिकारियों को किया गिरफ्तार, बाकी आरोपियों की तलाश जारी इमरान खान को गिरफ्तार किया तो पाकिस्तान में होंगे श्रीलंका जैसे हालात रेलवे ने अचानक इन 20 ट्रेनों को क‍िया रद्द, ऐसे यात्र‍ियों को होगी मुश्‍क‍िल

जानें- अबु धाबी में किए गए हूथी विद्रोहियों के हमले के क्‍या हैं मायनें, क्षेत्र के दूसरे देशों पर क्‍या होगा असर

Whats App

निकोसिया, साइप्रस। कुछ दिन पहले हुए हूथी विद्रोहियों द्वारा अबू धाबी के आयल टैंकर पर हुए हमले ने सभी को हैरान कर दिया है। इसकी दो बड़ी वजह हैं। पहली वजह यमन से 2019 में यूएई द्वारा अपनी सारी सेना का हटाना है तो दूसरी वजह ये भी है कि यूएई ने खुद को पर्यटकों के लिए बेहद सुरक्षित करार दिया था। ऐसे में इस हमले ने कई तरह के सवाल खड़े कर दिए हैं। इस हमले में तीन लोगों की मौत हो गई थी। इस हमले के बाद यूएई ने हूथी विद्रोहियों के ठिकाने पर जबरदस्‍त हवाई हमले किए।

अबु धाबी पर किए गए हमले ने पूरे विश्‍व का ध्‍यान इस तरफ खींचा और पूरी विश्‍व बिरादरी ने इसकी कड़ी आलोचना भी की। कहा जा रहा है कि इस हूथी विद्रोहियों के इस हमले के गंभीर परिणाम भी देखने को मिल सकते हैं। इसका असर कहीं न कहीं यूएई और इस क्षेत्र के दूसरे देशों की नीतियों पर भी पड़ेगा। संयुक्‍त अरब अमीरात (यूएई) ने ये भी साफ कर दिया है कि वो हूथी विद्रोहियों पर उनकी ही जमीन पर और जबरदस्‍त हमले करेगा।

Whats App

शुक्रवार को ही सऊदी अरब के नेतृत्‍व वाले गठबंधन ने यमन के सदा शहर पर हमला किया था। डाक्‍टर्स विदाउट बार्डर के मुताबिक इस हमले में 82 लोगों की मौत हो गई और 266 घायल हुए थे। इसी दिन सऊदी और यूएई की गठबंधन सेनाओं ने अल हुदायदा स्थिति टेलिकम्‍यूनिकेशन बिल्डिंग पर हमला किया था। ये शहर यमन का चौथा बड़ा शहर है। इस हमले में 20 लोगों की मौत हो गई थी। माना जा रहा है कि हूथी विद्रोहियों को यूएई के खिलाफ हमला करना इस बात की चेतावनी है कि संयुक्‍त अरब अमीरात यमन के दूसरे स्‍थानीय मिलिशिया संगठनों को दिए जा रहे समर्थन पर फिर विचार करे और उनके ऊपर हमला न करे।

बता दें कि जनवरी में यूएई द्वारा समर्थित मिलिशिया संगठनों ने हूथी विद्रोहियों पर शबवा और मौरिन में जबरदस्‍त हमला किया था। इसके बाद यूएई ने कहा था कि वो क्षेत्र में तनाव को बढ़ाना नहीं चाहता है। यूएई ने ये भी कहा था‍ कि वो अब यमन के दूसरे मिलिशिया संगठनों को किसी तरह का समर्थन नहीं देगा।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

राजधानी में बड़ी लूट की वारदात से हडकंप, कारोबारी से मारपीट कर 50 लाख की लूट     |     मूर्तियां और कलश से लेकर शिवलिंग तक…तीन दिन का सर्वे पूरा वजुखाने में 12 फीट 8 इंच का शिवलिंग!     |     भाजपा में चला मंथन का दौर, अलग निगम का अलग घोषणापत्र होगा जारी     |     भारत माता की तस्वीर को जमीन पर रखकर अपमानित करने पर भड़के NSUI कार्यकर्ता, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का फूंका पुतला     |     सुप्रीम कोर्ट में शिवराज सरकार प्रस्तुत कर चुकी है, पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग की वार्डवार रिपोर्ट, मंगलवार को होगा तय     |     EPF अकाउंट से Withdrawal पर हो सकता है 15 लाख रुपए से ज्यादा का नुकसान, रिटायरमेंट पर लगेगा झटका!     |     हार्ट अटैक, पर्वतीय बीमारी से अब तक 39 तीर्थयात्रियों की मौत     |     MP में अब नीलगाय का शिकार: पुलिस ने 2 शिकारियों को किया गिरफ्तार, बाकी आरोपियों की तलाश जारी     |     इमरान खान को गिरफ्तार किया तो पाकिस्तान में होंगे श्रीलंका जैसे हालात     |     रेलवे ने अचानक इन 20 ट्रेनों को क‍िया रद्द, ऐसे यात्र‍ियों को होगी मुश्‍क‍िल     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374