New Year
Breaking
भूकंप से कांप गई पाकिस्तान की धरती ट्रांसमिशन सर्विस एग्रीमेंट हस्ताक्षरित  रीवा की अवनि चतुर्वेदी ने जापान में फाइटर प्लेन उड़ाकर रचा एक और इतिहास PM नरेंद्र मोदी ने की मंत्रिपरिषद के साथ बैठक, बजट से पहले कई अहम मुद्दों पर होगी चर्चा मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान में चिन्हित हितग्राहियों को 5 फरवरी से मिलेगा योजना का लाभ विजय चौक पर भारतीय धुनों से मंत्रमुग्ध हुए दर्शक कराची में बड़ा सड़क हादसा खाई में गिरी बस, 37 लोगों की मौत, 4 घायल सरकार बढ़ा सकती है उज्ज्वला योजना का बजट... लखनऊ समेत 53 जिलों में ठंडी हवाओं ने बढ़ाई ठिठुरन ऑस्ट्रेलिया में खालिस्तानी समर्थक व भारतीय भिड़े, 2 गिरफ्तार

चिनफिंग और बाइडन की मीटिंग से पहले चीनी राजनयिक की चेतावनी, ताइवान कार्ड का इस्तेमाल ना करे अमेरिका

Whats App

बीजिंग। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और उनके चीनी समकक्ष शी चिनफिंग सोमवार को वर्चुअली मीटिंग करने जा रहे हैं। दोनों देशों के बीच उभर रहे तनाव के बीच यह बैठक होने जा रही है। इस दौरान ताइवान, सैन्य नियंत्रण, व्यापार और मानवाधिकार जैसे कई मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। इस बीच चीनी राजनियक ने ताइवान को लेकर अमेरिका को चेतावनी दी है।

चीनी मीडिया टैबलायड ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, एक वरिष्ठ चीनी राजनयिक ने अमेरिका को चेतावनी देते हुए कहा है कि वह चीन को घेरने के लिए ताइवान कार्ड इस्तेमाल न करे। टैबलायड ग्लोबल टाइम्स ने बताया कि चीनी विशेषज्ञों का अनुमान है कि बैठक में ताइवान का सवाल चिंता का प्रमुख विषय होगा

फूडन विश्वविद्यालय में इंस्टीट्यूट आफ इंटरनेशनल स्टडीज के डीन वू शिनबो ने रविवार को ग्लोबल टाइम्स से बात करते हुए कहा, ‘यह कहना मुश्किल है कि क्या चीन और अमेरिका इस सवाल पर किसी सहमति पर पहुंचेंगे, लेकिन अमेरिका को एक-चीन सिद्धांत के अनुसार और चीन की चिंताओं के जवाब में कुछ ठोस वादे करने होंगे। वरना यह शीर्ष नेताओं के बीच होने जा रही इस बैठक के परिणाम के साथ-साथ भविष्य में चीन-अमेरिकी संबंधों को भी प्रभावित करेगा।

Whats App

इससे पहले 12 नवंबर को अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ मुलाकात कर दो आर्थिक महाशक्तियों के प्रमुखों के बीच होने जा रही बैठक की तैयारियों को लेकर बात की थी। इस दौरान ब्लिंकन ने वांग यी के सामने ताइवान के प्रति चीन के दृष्टिकोण को लेकर चिंता भी व्यक्त की थी। बयान के मुताबिक, ब्लिंकन ने बीजिंग से ताइवान के मुद्दे को शांति से हल करने के लिए बातचीत में शामिल होने का आग्रह किया था।

राष्ट्रपति जो बाइडन ने उत्तर पश्चिम चीन में बसे अल्पसंख्यकों के मानवाधिकार हनन, समुद्री मुद्दों, ताइवान, हांगकांग के मामलों को लेकर बीजिंग की निंदा की है। बता दें कि पिछले कुछ सालों में अमेरिका और चीन के बीच तनाव काफी बढ़ा है। व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन और वरिष्ठ चीनी विदेश नीति के सलाहकार यांग जिची ने पिछले महीने ही ज्यूरिख में हुई मुलाकात के दौरान बाइडन और शी के बीच इस साल के अंत तक वर्चुअल समिट कराने की बात की थी।

भूकंप से कांप गई पाकिस्तान की धरती     |     ट्रांसमिशन सर्विस एग्रीमेंट हस्ताक्षरित      |     रीवा की अवनि चतुर्वेदी ने जापान में फाइटर प्लेन उड़ाकर रचा एक और इतिहास     |     PM नरेंद्र मोदी ने की मंत्रिपरिषद के साथ बैठक, बजट से पहले कई अहम मुद्दों पर होगी चर्चा     |     मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान में चिन्हित हितग्राहियों को 5 फरवरी से मिलेगा योजना का लाभ     |     विजय चौक पर भारतीय धुनों से मंत्रमुग्ध हुए दर्शक     |     कराची में बड़ा सड़क हादसा खाई में गिरी बस, 37 लोगों की मौत, 4 घायल     |     सरकार बढ़ा सकती है उज्ज्वला योजना का बजट…     |     लखनऊ समेत 53 जिलों में ठंडी हवाओं ने बढ़ाई ठिठुरन     |     ऑस्ट्रेलिया में खालिस्तानी समर्थक व भारतीय भिड़े, 2 गिरफ्तार     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9431277374